हिमाचल विश्वविद्यालय में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण
हिमाचल विश्वविद्यालय में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण
हिमाचल-प्रदेश

हिमाचल विश्वविद्यालय में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण

news

शिमला, 14 अक्टूबर (हि.स.)। आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग के विद्यार्थियों को हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में दाखिला के लिए 10 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। प्रदेश विश्वविद्यालय ने इसे लेकर अधिसूचना जारी कर दी है। यह व्यवस्था शैक्षणिक सत्र 2020-21 में लागू होगी तथा सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों के लिए 10 फीसदी सीटें आरक्षित रहेंगी। बीते साल लोकसभा में 103वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम 2019 के पारित होने के बाद प्रदेश सरकार ने इस बाबत फैसला लिया था। हिमाचल विश्वविद्यालय के डीन आफॅ स्टडीज प्रो. अरविंद कालिया ने बताया कि बढ़ी हुई सीटों को उन मौजूदा उम्मीदवारों से भरा जाएगा, जिन्होंने पहले ही ऑनलाइन मोड के माध्यम से प्रवेश के लिए आवेदन किया है। उन्हें यूनिवर्सिटी के पोर्टल पर अपने ऑनलाइन फॉर्म में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की श्रेणी जोड़ने का मौका दिया गया है। यदि ये सीटें आर्थिि रूप से कमजोर वर्ग के उम्मीदवारों से खाली रहती हैं तो ये न तो अन्य श्रेणी से भरे जाएंगे और न ही आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर कक्षाओं में दाखिले की प्रकिया 16 अक्तूबर से शुरू होगी। इस बार मेरिट के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा और काउंसलिंग ऑनलाइन की जाएगी। उन्होंने कहा कि 20 अक्तूबर के बाद पहली कट ऑफ जारी की जाएगी और मेरिट लिस्ट 23 अक्तूबर को प्रकाशित होगी। 27 व 28 अक्टूबर को आनलाइन काउंसलिंग होंगी तथा विद्यार्थी 31 अक्तूबर तक अपनी फीस जमा कर सकेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल-hindusthansamachar.in