हिमाचल में विभिन्न विभागों के पास बिना खर्च पड़े हैं 5156 करोड़ रुपये
हिमाचल में विभिन्न विभागों के पास बिना खर्च पड़े हैं 5156 करोड़ रुपये
हिमाचल-प्रदेश

हिमाचल में विभिन्न विभागों के पास बिना खर्च पड़े हैं 5156 करोड़ रुपये

news

शिमला, 17 सितम्बर (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश में केवल कुछ प्रमुख विभागों के पास ही 5156.25 करोड़ रुपये अभी तक खर्च करने के लिए शेष हैं। इस राशि में विधायक निधि और रेडक्रॉस की राशि भी शामिल है। इस राशि में विभिन्न बोर्डों, निगमों और सहकारी सभाओं के पास उपलब्ध राशि शामिल नहीं है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने गुरुवार को विधानसभा में विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री के एक सवाल के लिखित जवाब में कहा कि कोरोना महामारी के कारण अर्थव्यवस्था को बल देने के लिए सरकार ने ये निर्णय लिया है कि विभागों के पास उपलब्ध धनराशि का उचित सदुपयोग किया जाए। विभागों को कहा गया है कि प्रक्रियाधीन योजनाओं की समीक्षा करें और ऐसी योजनाओं को प्राथमिकता दें जिन्हें शीघ्र पूरा किया जा सके। विधायक राकेश सिंघा के एक सवाल के लिखित जवाब में शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने बीते 20 अगस्त को शिक्षण संस्थानों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों को प्रवेश में 10 प्रतिशत आरक्षण का रोस्टर लागू कर दिया है लेकिन इस व्यवस्था में उन विद्यार्थियों को पैसे वापस देने का प्रावधान नहीं है, जो निजी शिक्षण संस्थानों में प्रवेश ले चुके हैं। विधायक आशीष बुटेल के एक सवाल के लिखित जवाब में ग्रामीण विकास व पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने सदन को बताया कि प्रदेश सरकार ने शिमला के टूटू में नया विकास खंड खोलने की मंजूरी दे दी है। विधायक जेआर कटवाल के एक सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. राजीव सहजल ने बताया कि प्रदेश सरकार ने पहली जनवरी 2018 से अब तक राज्य में डाॅक्टरों के रिकॉर्ड 1128 पद भरे हैं। इसके अलावा नर्सों के 366, पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्ता के 80, रेडियोग्राफर के 81, ओटीए के 35, ऑपथेल्मिक सहायक के नौ पद भरे गए हैं। कटवाल की गैर मौजूदगी में सुभाष ठाकुर ने उनका ये सवाल पूछा। विधायक विनय कुमार के एक सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में डाक्टरों के नियमितिकरण का प्रावधान नहीं है। इस मिशन में प्रदेश में 1154 कर्मचारी तैनात हैं। इनमें से 863 कर्मचारी आउटसोर्स पर हैं। भाजपा की रीना कश्यप के एक सवाल के जवाब में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि सराहां में एसडीएम कार्यालय खोलने के लिए पिछले साल 22 अगस्त को अधिसूचना जारी की गई थी और ये कार्यालय शीघ्र ही काम करना आरंभ कर देगा। कर्नल धनीराम शांडिल के एक सवाल के जवाब में सुरेश भारद्वाज ने कहा कि सोलन नगर परिषद में 191 कर्मचारी डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्र करने का कार्य कर रहे हैं। विधायक इंद्र सिंह के एक सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में एक-एक अटल आदर्श विद्यालय स्थापित करने की प्रक्रिया सरकार ने आरंभ कर दी है। कुछ विधानसभा क्षेत्रों में इस पर काम आरंभ हो गया है जबकि कुछ क्षेत्रों में जमीन हस्तांतरण का काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि अभी तक प्रदेश में किसी भी अटल आदर्श विद्यालय ने काम करना शुरू नहीं किया है। चालू वित्त वर्ष के दौरान इस कार्य के लिए 15 करोड़ रुपये का बजट का प्रावधान किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल-hindusthansamachar.in