सोलन नगर परिषद में मनोनीत पार्षदों ने चेयरमैन के खिलाफ खोला मोर्चा
सोलन नगर परिषद में मनोनीत पार्षदों ने चेयरमैन के खिलाफ खोला मोर्चा
हिमाचल-प्रदेश

सोलन नगर परिषद में मनोनीत पार्षदों ने चेयरमैन के खिलाफ खोला मोर्चा

news

सोलन, 02 अगस्त ( हि.स.) । शहर के मनोनीत पार्षदों ने रविवार को प्रेस वार्ता करके नगर परिषद के चेयरमैन सहित पार्षदों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया । मनोनीत पार्षद नरेश गांधी और भरत साहनी ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता कर चेयरमैन पर कई गंभीर आरोप लगाए । उन्होंने कहा कि नगर परिषद के चेयरमैन जो भाजपा से हैं लेकिन काम वह कांग्रेस पार्टी के लोगों के करवा रहे हैं। उन्होंने यहां तक कहा कि चेयरमैन के सम्बंध कांग्रेस पार्टी के एक नेता के साथ हैं और उनके साथ गुप - चुप रूप से बैठकें भी की जा रही हैं । सांझा बयान देते हुए मनोनीत पार्षदों ने कहा कि सरकार द्वारा चार मनोनित पार्षद नगर परिषद को दिए गए हैं । जिनका दायित्व अपने वार्ड सहित शहर की जनता के प्रति उतना ही है जितना जीत कर आये हुए पार्षदों का है । लेकिन चेयरमैन इनके वार्डों के विकास कार्यों के लिए टेंडर ही नहीं लगा रहे हैं । जबकि हाल ही में चार टेंडर ऑफ लाइन लगाए गए हैं । इन पार्षदों ने कहा कि शहर वासियों को तीन से चार दिन बाद पीने का पानी मिल रहा है । शहर के सपरून में शराब का ठेका खोले जाने को लेकर भी इन पार्षदों ने सवाल उठाए कि ये ठेका गुरुद्वारे के समीप है और इसके अलावा कई अन्य पहलुओं को नजरअंदाज करके यहां ठेके की अनुमति प्रदान की गई है । नगर परिषद के समीप बने काम्प्लेक्स में एक पार्षद के रिश्तेदार के नाम से दुकान आबंटित किए जाने को लेकर भी इन्होंने चेयरमैन को आड़े हाथों लिया । उन्होने कहा कि चेयरमैन के रवैये को लेकर मुख्यमंत्री सहित सम्बंधित विभाग के मंत्री तथा पार्टी के पूर्व अध्यक्ष को भी लिखित में शिकायत की थी । उनका कहना है कि भाजपा के ही चेयरमैन होने के बावजूद वह अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं का साथ नहीं दे रहे हैं। इन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि सोलन नगर परिषद को भंग किया जाए और नई कार्यकारिणी का गठन किया जाना चाहिए । हिन्दुस्थान समाचार / संदीप/सुनील-hindusthansamachar.in