मंडी के हरवानी गांव में छह माह से नहीं है पानी, ग्रामीणों ने खाली बर्तनों के साथ किया प्रदर्शन
मंडी के हरवानी गांव में छह माह से नहीं है पानी, ग्रामीणों ने खाली बर्तनों के साथ किया प्रदर्शन
हिमाचल-प्रदेश

मंडी के हरवानी गांव में छह माह से नहीं है पानी, ग्रामीणों ने खाली बर्तनों के साथ किया प्रदर्शन

news

मंडी, 05 नवम्बर (हि. स.)। हिमाचल प्रदेश जहां एक ओर जल जीवन मिशन के तहत हर गांव के हर घर में पेयजल आपूर्ति पर देश में अव्वल स्थान पर है। वहीं मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर की गृह जिला मंडी की नाचन विधानसभा क्षेत्र के अप्पर बहली पंचायत के हरवानी गांव में पिछले 6 माह से लोग बिन पानी तरसने को मजबूर हैं। हालात इस कदर बेकाबू हो चुके हैं कि लोगों ने पानी की समस्या को लेकर अपने पशु भी बेच दिए हैं। लेकिन इसके बावजूद भी सरकार लोगों की समस्या का हल नहीं कर पाई है और कई बार सीएम हेल्पलाइन पर ग्रामीण शिकायत कर चुके हैं। लेकिन आज तक समस्या का हल नहीं हो पाया है। इसको लेकर ग्रामीणों में भारी रोष है। वहीं इस समस्या को लेकर ग्रामीणों ने खाली बर्तन लेकर गांव में सरकार और जल शक्ति विभाग के खिलाफ खूब हल्ला बोला और नारेबाजी की। ग्रामीणों ने सरकार और प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उनके पानी की समस्या का जल्द नहीं हल नहीं किया गया तो आने वाले पंचायत चुनावों का बहिष्कार करेंगे और उसकी पूरी जि मेवारी सरकार की होगी। ग्रामीणों ने जानकारी देते हुए कहा कि गांव में पानी की बहुत ज्यादा किल्लत है और गांव के लिए पानी की कोई स्कीम नहीं है। इस वजह से हमारे गांव में पीने के लिए पानी की समस्या आ रही है। उन्होंने कहा कि विभाग ने गांव के लिए महादेव स्कीम से एक पाइप लाइन गांव के लिए डाली गई, लेकिन इस लाइन से शुरुआत के घरों में ज्यादा कनेक्शन विभाग द्वारा दे दिए गए। इस कारण गांव तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। उन्होंने कहा कि कुछ घर ऐसे हैं जहां 2 से ज्यादा कनेक्शन है। उन्होंने कहा कि गांव में 20 से 25 घर हैं जहां पर पानी की बूंद तक नहीं पहुंच रही है। उन्होंने कहा कि इस समस्या को लगभग 15 से 20 वर्ष हो चुके हैं लेकिन पिछले 6 माह से यह समस्या विकराल रूप धारण कर चुकी है। लोगों का कहना है कि उपरोक्त गांव के लिए अप्पर बेहली के अंतर्गत बने पंप हाउस से गांव के लिए एक सीधी पाइपलाइन बिछाई जाए ताकि लोग अपना और पशुओं का पानी से गुजारा कर सके। इधर, ग्रामीण मुनीलाल का कहना है कि क्षेत्र में पिछले 6 महीने से पानी की समस्या विकराल रूप धारण करती जा रही है। उन्होंने कहा कि इसके चलते गांव के कुछ ग्रामीणों ने अपने पशु तक बेच दिए हैं। कई बार पानी की समस्या को लेकर सीएम हेल्पलाइन और जल शक्ति विभाग के अधिकारियों से बात की गई लेकिन आज तक समस्या का निपटारा नहीं हो सका है। उन्होंने कहा कि जल्द ही पानी की किल्लत झेल रहे ग्रामीणों को समस्या से निजात दिलाई जाए। वहीं ग्रामीण प्रेमी देवी ने कहा कि ग्रामीणों को 6 माह से पानी की बहुत ज्यादा किल्लत है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को बार-बार बोलने पर भी अधिकारी कोई सुनवाई नहीं कर रहे हैं। उन्होंने विभाग से मांग की है कि जल्द से जल्द लोगों की समस्या का हल किया जाए। जबकि सोनू देवी ने कहा कि गांव में पानी की किल्लत बहुत ज्यादा है। उन्होंने कहा कि अगर जल्द पानी की समस्या का निपटारा नहीं हुआ तो आने वाले पंचायत चुनावों का बहिष्कार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पशु और ग्रामीण बिना पानी पीने को मजबूर हैं। जल शक्ति विभाग के अधिकारी कई बार गांव में आ चुके हैं, लेकिन आज तक समस्या का हल नहीं कर पाए हैं। उन्होंने मांग की है कि जल्द से जल्द समस्या का हल किया जाए। हिन्दुस्थान समाचार/मुरारी/सुनील-hindusthansamachar.in