बस किराया बढ़ौतरी के खिलाफ संगठनों ने शिमला में दिया धरना

बस किराया बढ़ौतरी के खिलाफ संगठनों ने शिमला में दिया धरना
बस किराया बढ़ौतरी के खिलाफ संगठनों ने शिमला में दिया धरना

शिमला, 25 जुलाई (हि.स.)। भारत की जनवादी नौजवान सभा शिमला शहरी इकाई तथा जनवादी महिला समिति द्वारा शनिवार को उपायुक्त कार्यालय शिमला के बाहर किराए में की गई बढ़ोतरी के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया गया। धरने प्रदर्शन के माध्यम से दोनों संगठनों ने अभी हाल ही में सरकार द्वारा किए गए किराए में बढ़ोतरी को लेकर अपना विरोध प्रकट किया। जनवादी नौजवान सभा के शहरी अध्यक्ष अमित ने कहा कि एक और करोना महामारी के समय में हिमाचल प्रदेश के अंदर लाखों लोग अपना रोजगार गवा चुके हैं वहीं दूसरी और प्रदेश की सरकार इस तरीके से लगा था किराया बढ़ोतरी कर प्रदेश की जनता को ठगने का कार्य कर रही है। इस प्रदर्शन में जनवादी महिला समिति के राज्य सचिव फालमा चौहान ने कहा कि करोना महामारी के समय में भी प्रदेश की सरकार ने बस किराए में बढ़ोतरी कर जनता पर आर्थिक बोझ बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अंदर मौजूद भाजपा की सरकार तथा उनके मंत्री लगातार किराया बढ़ोतरी को लेकर पहले मना कर रहे थे कि किराया अभी करोना महामारी के समय में नहीं बढ़ाया जाएगा परंतु एकदम से ही प्रदेश की जनता पर इस तरीके से तुगलकी फरमान जारी घर के प्रदेश की जनता को सरकार द्वारा ठगा गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्राइवेट बस ऑपरेटरों के आगे प्रदेश की सरकार ने घुटने टेक दिए हैं। अगर इस तरीके से प्रदेश की सरकार लगातार जनता पर आर्थिक बोझ डालने का कार्य करती रही तो इसका जनवादी महिला समिति व भारत की जनवादी नौजवान सभा विरोध करती रहेगी। उन्होंने चेताया कि अगर सरकार किराया बढ़ौतरी को वापिस लेने पर कोई निर्णय शीघ्र ही नहीं लेती है तो भारत की जनवादी नौजवान सभा तथा जनवादी महिला समिति सभी लोगों को एकत्र करते हुए सरकार व प्रशासन के खिलाफ उग्र आंदोलन करेगी इसके जिम्मेदार प्रदेश की सरकार होगी। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.