पहाड़ी गाय के संरक्षण के लिए कई कड़े कदम उठा रही है राज्य सरकार: वीरेंद्र कंवर
पहाड़ी गाय के संरक्षण के लिए कई कड़े कदम उठा रही है राज्य सरकार: वीरेंद्र कंवर
हिमाचल-प्रदेश

पहाड़ी गाय के संरक्षण के लिए कई कड़े कदम उठा रही है राज्य सरकार: वीरेंद्र कंवर

news

सोलन, 22 नवम्बर (हि.स.)। प्रदेश ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि गौ माता सड़कों पर न रहे, इसके लिए प्रदेश सरकार के प्रयास जारी हैं और उनकी सरकार गाय माता के संरक्षण, संवर्धन व गाय के भाव को भी समाज में जागृत करेंगे। हमारे वेदों में भी गौ माता को पालक बताया गया है और इसमें 33 करोड़ देवी देवताओं का वास है। मंत्री कंवर शहर के बाईपास पर राष्ट्रीय उच्च मार्ग 5 कालका-शिमला पर स्थित सब्जी मंडी के समीप आश्रय गौ सदन में श्री गोपाष्टमी महोत्सव में बोल रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने गौ माता की पूजा अर्चना की और हवन में पूर्ण आहुति भी दी। उन्होंने आश्रय गौ सदन में गौशाला नवभवन निर्माण का शिलान्यास भी किया गया। इस अवसर पर मंत्री कंवर ने कहा कि गाय बचेगी तो खेती बचेगी, खेती बचेगी तो पर्यावरण बचेगा, पर्यावरण बचेगा तो और तभी जीवन भी बचेगा। इसी आधार पर सरकार गाय के संरक्षण, संवर्धन के साथ साथ उसका भाव सबमें हो इसके लिए काम कर रही है। मंत्री कंवर ने अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि जर्सी गाय के चक्कर मे हमने अपनी पहाड़ी गाय का पालन व संरक्षण बंंद कर दिया है, जबकि हमारी पहाड़ी गाय सबसे उत्तम होती है। अब सरकार ने 10 करोड़ का एक प्रोजेक्ट तैयार करके इसके संरक्षण के लिए काम कर रही है, जिसके लिए केंद्र सरकार ने भी मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि हिमाचल में गौरी के नाम से इस पर काम चल रहा है व इसके नाम से अब दूध भी आ रहा है। उन्होंने कहा कि हिमाचल की गाय का संरक्षण किया जाएगा व उसे उत्तम नस्ल के बनाया जाएगा व फिर किसानों को दिया जाएगा। ताकि किसान फिर इसे सड़कों पर न छोड़ें। हिन्दुस्थान समाचार / संदीप-hindusthansamachar.in