पठानकोट-मंडी फोरलेन सड़क के निर्माण कार्य को लेकर नूरपुर प्रशासन ने भू-अधिग्रहण प्रक्रिया की तेज
पठानकोट-मंडी फोरलेन सड़क के निर्माण कार्य को लेकर नूरपुर प्रशासन ने भू-अधिग्रहण प्रक्रिया की तेज
हिमाचल-प्रदेश

पठानकोट-मंडी फोरलेन सड़क के निर्माण कार्य को लेकर नूरपुर प्रशासन ने भू-अधिग्रहण प्रक्रिया की तेज

news

धर्मशाला, 20 दिसम्बर (हि.स.)। पठानकोट-मंडी फोरलेन सड़क के निर्माण कार्य को लेकर नूरपुर प्रशासन ने भू-अधिग्रहण की प्रक्रिया तेज कर दी है। सबकुछ सामान्य चलता रहा तो प्रशासन अगले माह में प्रभावित लोगों को मुआवजा देने की प्रक्रिया को अवार्ड कर इस महत्वाकांक्षी सड़क मार्ग परियोजना के निर्माण प्रक्रिया को शुरू करवाने का मार्ग प्रशस्त कर देगा। यह सड़क निर्माण प्रक्रिया पिछले कुछ समय से ठंडे बस्ते में पड़ी थी। लेकिन अब सरकार के दिशा-निर्देश पर इसके निर्माण को लेकर भू-अधिग्रहण की प्रक्रिया तेज हो गई है, जिस पर प्रशासन तेजी से कार्य करने में जुट गया है। गौरतलब है उपमंडल नूरपुर के तहत कंडवाल से लेकर जौंटा तक करीब 31 किलोमीटर लंबा फोरलेन बनना प्रस्तावित है और प्रशासन ने इस बारे में प्रक्रिया शुरू की थी और इसमें बनने वाले फोरलेन निर्माण की रूपरेखा बना कर थ्री-डी तक का कार्य किया था। लेकिन कुछ समय पहले इसकी प्रक्रिया रुक गई थी, जो अब फिर शुरू हो गई है और इस महत्वाकांक्षी सड़क परियोजना के जल्द पूरा होने की आस बंधी है। इसमें 11 पटवार वृतों के 31 गांवों के करीब 3781 लोग प्रभावित होंगे। फोरलेन में 11 पटवार वृतों की जमीन आएगी, जिसमें पटवार वृत कंडवाल, बाग राजा, छतरोली, जाच्छ, नूरपुर-एक, नूरपुर-दो, गेही-लगोड़, नागनी, भड़वार, खैरियां, जौंटा शामिल हैं। इसमें 31 महाल (गांव) की करीब 62 हेक्टेयर जमीन आएगी और लगभग 3781 लोग प्रभावित होंगे। इस प्रक्रिया में 19 सरकारी इमारतें और लगभग 933 निजी इमारतें शामिल हैं। विभिन्न चरणों में होने वाले इस कार्य में प्रशासन ने थ्री-ए से लेकर थ्री-डी का कार्य पूर्ण हो चुका है और फोरलेन बनने बारे अधिसूचना भी जारी हो चुकी है। अब प्रशासन द्वारा थ्री-जी की प्रक्रिया पूर्ण किए जाने के बाद प्रभावित लोगों के अकांउट में पैसा डालना शुरू करेगा। एसडीएम नूरपुर डॉ. सुरिंद्र ठाकुर ने बताया कि नूरपुर में भूमि अधिग्रहण का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है और सबंधित टीमें इस बारे में एसेसमेंट का कार्य कर रही हैं तथा उम्मीद है कि इस माह के अंत तक कुछ अवार्ड दिए जाएंगे व अगले माह के आखिर तक सब मुआवजे अवार्ड करने का प्रयास किया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/सतेंद्र/सुनील-hindusthansamachar.in