नदी में गिरी मासूम, मां ने भी लगाई छलांग, मौत
नदी में गिरी मासूम, मां ने भी लगाई छलांग, मौत
हिमाचल-प्रदेश

नदी में गिरी मासूम, मां ने भी लगाई छलांग, मौत

news

शिमला, 17 जुलाई (हि.स.)। मां की गोदी से 11 माह की मासूम छिटककर नदी में जा गिरी। मासूम को बचाने के लिए पल भर की देर किए बिना मां ने नदी में छलांग लगा दी। दर्दनाक हादसे में मां की मौत हो गई। उसका शव बरामद कर लिया गया है। वहीं स्थानीय प्रशासन की ओर से मासूम बच्ची को ढूंढऩे के प्रयास किए जा रहे हैं। फिलहाल उसका पता नहीं चल पाया है। घटना रोहड़ू उपमंडल की चिड़गांव तहसील के बड़ियारा क्षेत्र की है। गुरुवार शाम पांच बजे चिड़गांव के कुशालना गांव की 22 वर्षीय मनीषा घर जाने के लिए गाड़ी के इंतज़ार में बढियारा कैंची में खड़ी थी। पुलिस के मुताबिक 11 माह की बच्ची को उसने गोद में उठा रखा था। काफी समय तक जब कोई गाड़ी नहीं आई, तो वह सड़क किनारे बने एक पैराफिट पर बैठ गई। इस दौरान सन्तुलन खोने से मासूम बच्ची पैराफिट से नीचे पब्बर नदी में जा गिरी। बच्ची को गिरता देख मनीषा चीख उठी। बच्ची को बचाने के लिए मनीषा ने तुरन्त पब्बर नदी में छलांग लगा दी। लेकिन तेज बहाव व गहराई अधिक होने के कारण बच्ची को पकड़ नहीं पाई। एक राहगीर इस घटना का गवाह बना और उसने पुलिस व इलाका वासियों को सूचित किया। देर शाम तक प्रशासन ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया और मनीषा के शव को घटनास्थल से 200 मीटर दूर बरामद कर लिया गया। बच्ची अभी भी लापता है। जिला पुलिस अधीक्षक ओमा पति जंबाल ने शुक्रवार की सुबह बताया कि 22 वर्षीय महिला की नदी में डूबने से मौत हुई है और उसका शव बरामद कर लिया गया है। महिला की 11 महीने की बच्ची की नदी में तलाश जारी है। उन्होंने कहा कि महिला और बच्ची के नदी में डूबने के कारणों की पड़ताल की जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल/सुनील-hindusthansamachar.in