कोरोना की शांति के लिए चिंतपूर्णी में गायत्री जाप, 26 नवम्‍बर को होगा हवन
कोरोना की शांति के लिए चिंतपूर्णी में गायत्री जाप, 26 नवम्‍बर को होगा हवन
हिमाचल-प्रदेश

कोरोना की शांति के लिए चिंतपूर्णी में गायत्री जाप, 26 नवम्‍बर को होगा हवन

news

ऊना, 21 नवम्बर (हि. स.)। उत्तर भारत के प्रसिद्ध शक्तिपीठ चिंतपूर्णी मंदिर में कोरोना महामारी की शांति के लिए मंदिर न्यास चिंतपूर्णी तथा जिला प्रशासन ने श्री गायत्री महायज्ञ का जाप शुरू किया है। छह दिन तक चलने वाले जाप में प्रतिदिन छह पंडित महायज्ञ का जाप करेंगे तथा 26 नवंबर को हवन किया जाएगा। मंदिर आयुक्त तथा उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने कहा कि मंदिर न्यास की ओर से विश्व शांति व कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए गायत्री महायज्ञ का जाप रखा गया है। उन्होंने कहा कहा कि महायज्ञ के दौरान सवा लाख मंत्रों का जाप किया जाएगा। डीसी ने सभी श्रदालुओं के स्वास्थ्य की कामना करते हुए कहा कि मंदिर में दर्शन के लिए आने वाले सभी भक्त कोविड गाइडलाइन्स का पालन करें। मां के सभी भक्त मास्क का प्रयोग करें तथा उचित दूरी का ध्यान रखें व इस कार्य में मंदिर प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है, इसलिए जब तक कोई दवाई नहीं आती, तब तक मास्क को ही वैक्सीन समझें तथा इसमें किसी प्रकार की भी ढिलाई नहीं होनी चाहिए। राघव शर्मा ने कहा कि मंदिर न्यास ने मां चिंतपूर्णी के दर्शनों के लिए जो नियम बनाए गए हैं, उन्हें सभी मानें क्योंकि इसी में सभी का हित है। हिन्दुस्थान समाचार/सुनील-hindusthansamachar.in