एआईसीसी डेलीगेट के चुनाव से पहले प्रदेश में कांग्रेस नेताओं की सक्रियता बढ़ी
एआईसीसी डेलीगेट के चुनाव से पहले प्रदेश में कांग्रेस नेताओं की सक्रियता बढ़ी
हिमाचल-प्रदेश

एआईसीसी डेलीगेट के चुनाव से पहले प्रदेश में कांग्रेस नेताओं की सक्रियता बढ़ी

news

शिमला, 16 अक्टूबर (हि. स.)। ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के डेलीगेट्स के चुनाव से पहले सूबे में कांग्रेस नेताओं की सक्रियता बढ़ गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ युवा तुर्क भी इन दिनों खासा सक्रिय है। बीते दिनों कांग्रेस हाईकमान सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले नेता भी सक्रिय हुए हैं। कांग्रेस नेताओं की अलग*अलग प्रेस वार्ताओं से साफ प्रतीत होता है कि सभी एआईसीसी डेलीगेट्स व वर्किंग कमेटी के चुनाव से पहले लामबंद हो रहे हैं। गुरुवार को शिमला में पीसीसी चीफ कुलदीप सिंह राठौर ने पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। धर्मशाला में पूर्व मंत्री ठाकुर कौल सिंह व जीएस बाली, पूर्व सांसद विप्लव ठाकुर एवम चन्द्र कुमार का सयुंक्त पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। इन नेताओं ने अलग-अलग पत्रकार वार्ता कर बेशक जयराम सरकार पर ही निशाना साधा, मगर प्रेस वार्ताओं का अलग अलग आयोजन करना कई सवाल छोड़ गया। राजनीति के जानकार इस संबंध में अपने अपने कयास लगा रहे हैं। हालांकि इन नेताओं ने प्रदेश सरकार को घेरने का ही मुद्दा रखा लेकिन पर्दे के पीछे क्या चल रहा है। इसके कयास लगाए जा रहे हैं। जिस तरह से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एक साथ आने लगे हैं, उससे कई तरह की चर्चाएं शुरू हैं। आगामी समय में कांग्रेस कार्यसमिति के चुनावों से पहले कई घटनाक्रम होंगे, जिनमें हिमाचल के नेताओं की भूमिका भी सुर्खियां बनेंगी यह बार तय नज़र आ रही है। उल्लेखनीय है कि एआईसीसी कांग्रेस की प्रमुख बॉडी है। इसके डेलीगेट्स का चयन अहम है। प्रदेश कांग्रेस कमेटियों के आकार के मुताबिक ही राज्यों से डेलीगेट चुने जाने हैं। डेलीगेट कांग्रेस के पूर्ण कालिक अध्यक्ष का चयन करेंगे। लिहाजा माना जा रहा है कि प्रदेश कांग्रेस के नेता सक्रिय होकर एआईसीसी डेलीगेट के चुनाव में किस्मत आजमाएंगे। डेलीगेट चुने जाने के बाद भविष्य की राजनीति का खेल तय होगा। एआईसीसी डेलीगेट्स का चयन कांग्रेस कार्यसमिति में जगह पाने के लिए भी अहम है। हिन्दुस्थान समाचार/सुनील-hindusthansamachar.in