आनी में पुलिस ने नष्ट की भांग की अवैध खेती

आनी में पुलिस ने नष्ट की भांग की अवैध खेती
आनी में पुलिस ने नष्ट की भांग की अवैध खेती

कुल्लू, 25 जुलाई (हि.स.)। थाना आनी के अंतर्गत पुलिस ने अवैध नशे के कारोबार पर शिकंजा कसते हुए भारी मात्रा में भांग की खेती नष्ट की है। भांग की खेती सेब के पेड़ों की आड़ में की जा रही है जिसकारण नशे की खेती तक पहुंचना पुलिस के लिए आसान नहीं है। यह तभी संभव है जब आम जनता ऐसे नशे के कारोबारियों की सूचना पुलिस को दे। जानकारी के अनुसार नशे की खेती का मामला आनी क्षेत्र में सामने आया है जब पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि एक व्यक्ति द्वारा सेब के पौधों की आड़ में भांग की खेती की गई है। सूचना मिलते ही पुलिस दल गांव दलोट में पहुंची जहां पुलिस ने भांग की लहलहाती हुई भांग की खेती पाई गई। पुलिस ने जांच के बाद मान सिह पुत्र बांकु राम निवासी कंमाद, आनी के विरुद्ध मादक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस द्वारा भांग के पौधो की गिनती करने पर करीब 1500 पाए गये जिनमें से 10 पौधे बतौर नमूना लिए जाकर मांदा भांग के पौधों को मौका पर नष्ट किया गया । अन्य मामला भी आनी में उस दौरान सामने आया है जब पुलिस टीम गश्त के दौरान सराली में मौजूद थीं तो मुखबर खास से सूचना मिली कि गांव दलोट में लोगो ने सेब बागीचा में अबैध भांग की खेती की है जिस खेत में अवैध भांग की खेती करना पाई गई वह राजस्व रिकॉर्ड के अनुसार खाम्पू देवी पत्नी बहादुर सिंह निवासी दलोट, की पाई गई। भांग के पौधो की गिनती करने पर करीब 1620 पाए गये जिनमें से 10 पौधे बतौर नमूना लिए जाकर मांदा भांग के पौधों को मौका पर नष्ट किया गया । अन्य मामला नारसिंह पुत्र श्री ज्ञान दास गांव सराली डाकघर कमान्द तहसील आनी जिला कुल्लू पंजीकृत किया गया है। जब पुलिस टीम मुकाम सराली थी तो मुखवर खास से सूचना मिली कि गांव सराली में लोंगो ने सेब के बगीचे में अवैध रुप से भांग की खेती की है । पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने बताया कि जिस खेत में भांग की खेती करना पाई गई वह राजस्व रिकार्ड के अनुसार नारसिंह की पाई गई है। भांग के पोधों की गिनती करने पर कुल 500 पोधे पाए गए जिन में से पांच पोधे जड़ समेत उखाड कब्जा पुलिस में लिए गए हैं। पुलिस ने सभी आरोपियों के विरुद्ध मामले दर्ज कर लिए हैं व पुलिस द्वारा जांच शुरू कर दी गई है। हिन्दुस्थान समाचार / जसपाल/सुनील-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.