कोरोना ने दिवाली की छुट्टियों में भी टूर ऑपरेटरों की उम्मीदों पर फेरा पानी
कोरोना ने दिवाली की छुट्टियों में भी टूर ऑपरेटरों की उम्मीदों पर फेरा पानी
गुजरात

कोरोना ने दिवाली की छुट्टियों में भी टूर ऑपरेटरों की उम्मीदों पर फेरा पानी

news

काेराेना संंकट में राज्य के टूर ऑपरेटराेंं को हुआ एक हजार कराेड़ का नुकसान अहमदाबाद,10 नवम्बर (हि.स.)। इस साल कोरोना महामारी के कारण गुजरात में भी टूर ऑपरेटर को बड़ा नुकसान हुआ है। इसका असर दीवाली की छुट्टियों पर भी दिख रहा है। लोग शिमला-मनाली, गोवा, केरल जाने के बजाय इस बार राज्य में ही सासन और जूनागढ़ या आसपास के स्थानोंं को चुन रहे हैं। इस साल गुजरात के लगभग 800 टूर ऑपरेटरों को 1000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। गुजरात के लोग दीवाली की छुट्टियों के दौरान एक सप्ताह के लिए बाहर जाते हैं। घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बुकिंग महीनाें पहले हो जाती थी, लेकिन इस साल कोई विशेष बुकिंग नहीं हुई है। कोरोना के चलते गुजरात के लोग सासन और जूनागढ़ जाना पसंद कर रहे हैं। जूनागढ़ में रोपवे शुरू होने के बाद से लोगों का आकर्षण बढ़ा है। कोरोना के चलते लगभग आठ महीने तक घर पर रहने से तंग आ चुके लोग घर से बाहर निकलने को आतुर हैं लेकिन कोरोना प्रकोप को देखते हुए लोग अब छोटी यात्राओं की ही योजना बना रहे हैं या अपने घर पर परिवार के साथ ही रहना पसंंद कर रहे हैं। उल्लेेखनीय है कि गुजरात में लगभग 800 टूर ऑपरेटर हैं, जिनका इस साल कारोबार लॉकडाउन के कारण बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। एक अनुमान केे अनुसार गुजरात में लगभग 800 टूर ऑपरेटरों को इस साल लगभग 1000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। राजकोट में एक प्रमुख टूर ऑपरेटर प्रकाशभाई राठौर के अनुसार अंतरराष्ट्रीय बुकिंग वर्तमान में बंद हैं। भले ही दुबई खुला है, फिर भी लोग वहां जाने से हिचक रहे हैं। ज्यादातर लोग दिवाली की छुट्टियों के दौरान राज्य में आसपास के स्थानों पर जाने की योजना बना रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/हर्ष/पारस-hindusthansamachar.in

AD
AD