कोविड से माता-पिता की मौत हुई तो बच्चों ने आत्महत्या का सोचा

कोविड से माता-पिता की मौत हुई तो बच्चों ने आत्महत्या का सोचा
when-the-parents-died-of-kovid-the-children-thought-of-suicide

नई दिल्ली, 30 अप्रैल (हि.स.)। कोरोना की वजह से कई परिवार बुरी तरह टूट गए हैं। दक्षिण दिल्ली के सीआर पार्क इलाके में कोविड से माता-पिता की मौत हुई तो 18 और 20 साल के दोनों बच्चों ने आत्महत्या का मन बना लिया। दोनों ने रिश्तेदार को कॉल कर इसकी जानकारी दी। फौरन पुलिस को खबर दी गई। समय पर पुलिस की टीम बच्चों के पास पहुंची। दोनों बुरी तरह मानसिक तनाव में थे। उनकी काउंसलिंग कराकर रिश्तेदार को बुलाया गया। बाद में दोनों को उनके पैतृक घर, गुवाहाटी, असम भेज दिया गया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि यदि थोड़ी सी भी देर हुई होती तो शायद दोनों बच्चे आत्महत्या कर ही लेते। दक्षिण जिला पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि 30 अप्रैल सुबह उनकी टीम को सूचना मिली कि सीआर पार्क दो बच्चे खुदकुशी करने वाले हैं। खबर मिलते ही पुलिस की एक टीम को बताए गए पते पर भेजा गया। दोनों बच्चों को घर से सकुशल बरामद कर लिया यगा। दोनों दूसरी मंजिल पर बस आत्महत्या करने की तैयारी कर ही रहे थे। 20 वर्षीय बेटी ने बताया कि उनका अच्छा खासा परिवार था। 28 अप्रैल को उनके पिता संजीव फूकन (53) की फरीदाबाद के अस्पताल में मौत हो गई। उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस बीच शुक्रवार सुबह को उनकी मां मोती फूकन (45) ने लाजपत नगर, नेहरू नगर स्थित विमहंस अस्पताल में दम तोड़ दिया। दोनों कोविड से पीड़ित थे। माता-पिता की मौत के बाद 20 वर्षीय बेटी व 18 वर्षीय बेटा तनाव में आ गए। दोनों को कुछ समझ नहीं आया तो उन्होंने आत्महत्या की बात की। रिश्तेदार की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। बाद में बच्चों के रिश्तेदार मनोरंजन शर्मा को गुरुग्राम से बुलाया गया। इसके बाद दोनों बच्चों की काउंसलिंग कराने के बाद उनको गुवाहाटी भेजने का इंतजाम करवाया गया। पुलिस और रिश्तेदार मिलकर बच्चों की मां के अंतिम संस्कार की तैयारी में जुटे थे। कोविड नियमों के तहत शव का अंतिम संस्कार होना था। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा