भारतीय जन सेवा ट्रस्ट ने किया कोरोना योद्धाओं का सम्मान
भारतीय जन सेवा ट्रस्ट ने किया कोरोना योद्धाओं का सम्मान
दिल्ली

भारतीय जन सेवा ट्रस्ट ने किया कोरोना योद्धाओं का सम्मान

news

नई दिल्ली, 01 अगस्त (हि.स)। कोरोना महामारी के दौर में 24 घंटे जन सेवा को समर्पित रहने वाले कोरोना योद्धाओं को भारतीय जन सेवा ट्रस्ट ने वजीराबाद स्थित अपने मुख्य कार्यालय में सम्मानित किया। इस मौके पर रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) 103 बटालियन के कमांडेंट पीके जोहरी बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित हुए, जिन्हें संस्था द्वारा स्मृति चिन्ह एवं अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। भारतीय जन सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष गौतम देवल ने कहा कि देश में आई कोरोना महामारी के कारण आज हर कोई तनाव में है। सबसे ज्यादा वह लोग हैं जो अपने जीवन की चिंता न करते हुए 24 घंटे अपने कर्तव्य पालन के लिए जनसेवा को तत्पर हैं। कोरोना की जंग में सबसे आगे हमारे डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टॉफ, सफाई कर्मी, पुलिसकर्मी सामाजिक संस्थान और उनसे जुड़े समाजसेवी लोग कोरोना को हराने में दिन-रात लगे हुए हैं। इस स्थिति में इन कोरोना योद्धाओं का मनोबल बढ़ाना हमारा नैतिक दायित्व बन जाता है। देवल ने बताया कि उनकी संस्था द्वारा कोरोना योद्धाओं को सम्मान देने के अलावा जरूरतमंद गरीब लोगों को खाना देने तथा गरीब छात्रों को शिक्षा देने के कार्य जारी हैं। ट्रस्ट द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में पहुंचे आरएएफ के कमांडेंट पीके जोहरी ने संस्था के कार्यों की सराहना की और कहा कि जब देश में किसी प्रकार का संकट आता है तो सामाजिक संस्थाएं अहम भूमिका निभाती हैं। सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर, जन सेवा के कार्य करती हैं। कोरोना महामारी का दौर भी हम सबके लिए गंभीर चिंता का विषय है। इस दौर में भी सब लोग शांति बनाए रखें, अफवाहों पर ध्यान न दें , जरुरतमंदों की बढ़-चढ़कर सहायता करें। उन्होंने कहा कि जब समाज में किसी व्यक्ति को सम्मान दिया जाता है तो उसका हौसला और आत्मसम्मान बढ़ जाता है। इन सब से तनावपूर्ण माहौल में कार्य करने वालों को नई ऊर्जा और स्फूर्ति मिलती है। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश-hindusthansamachar.in