नियमों का पालन किया तो हम तीसरी लहर से बच सकते हैं : सत्येंद्र जैन

नियमों का पालन किया तो हम तीसरी लहर से बच सकते हैं : सत्येंद्र जैन
if-we-follow-the-rules-we-can-avoid-the-third-wave-satyendar-jain

नई दिल्ली, 20 जून (हि.स.)। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने राजधानीवासियों को आगाह किया है कि यदि लोगों ने कोरोना के नियमों का सही तरह से पालन किया तो हम संभावित तीसरी लहर से बच सकते हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने रविवार को प्रेस वार्ता कर कहा कि फिलहाल दिल्ली में कोरोना के मामलों में काफी कमी आ चुकी है। लेकिन लोग यदि लापरवाह हुए तो मुश्किल हो सकती है। क्योंकि पहले भी हमने देखा है कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण कम हुआ जिसके बाद लोग लापरवाह हो गये। उसके बाद के परिणाम हम सबके सामने हैं। पत्रकारों ने जब मंत्री से पूछा कि एम्स के निदेशक का कहना है कि आने वाले कुछ हफ्तों में तीसरी लहर के आने की संभावना है तो उन्होने कहा कि मैं पहले भी कह चुका हूं कि हम उन नियमों का पालन करें। ज्यादा बड़ी सभाएं न करें। हमने कोरोना के मामले में एक चीज देखी है कि जैसे ही हम रिलैक्स होते हैं कोरोना फिर से अटैक करता है क्योंकि कोरोना खत्म नहीं हुआ है। अगर 135 मामले भी आ रहे हैं तो मतलब कोरोना तो है। दिल्ली चूंकि राजधानी है तो देशभर से लोग आ जा रहे हैं जिसके कारण यहां मामले कभी भी बढ़ सकते हैं। मंत्री ने कहा कि हम आने वाले समय में दिल्ली में और सख्ती बढ़ाने वाले हैं। पुलिस को भी आवश्यक निर्देश दिये गये हैं। कल यानी 21 जून से केंद्र सरकार सभी 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए निशुल्क वैक्सीनेशन की व्यवस्था कर रही है। इस सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि पहले भी दिल्ली सरकार वैक्सीन लगा रही थी अभी भी वही लगाएगी। हां वैक्सीन उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है वो अभी भी उनकी है। हमने दिल्ली में तीन सौ से ज्यादा वैक्सीन सेंटर बनाए हैं। जिस पर वैक्सीनेशन जारी है। उल्लेखनीय है राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना संक्रमण मामले में कमी जारी है। दिल्ली में रविवार को जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार बीते 24 घंटों में 124 नए कोविड मामले सामने आए हैं। इस दौरान पॉजिटिविटी रेट 0.17 प्रतिशत की रही। जबकि इस संक्रमण के कारण सात लोगों की मौत हुई। वहीं 398 लोग डिस्चार्ज हुए। दिल्ली में फिलहाल कुल 2,091 सक्रिय मामले हैं। जबकि 14,05,287 लोग डिस्चार्ज हो चुके हैं और कुल 24,914 लोगों की मौत हो चुकी है। हिन्दुस्थान समाचार/ श्वेतांक

अन्य खबरें

No stories found.