होटलों और साप्ताहिक बाजारों को फिर से खोलने के फैसले को खारिज करना दिल्ली के लोगों के साथ धोखा :  राघव चड्ढा
होटलों और साप्ताहिक बाजारों को फिर से खोलने के फैसले को खारिज करना दिल्ली के लोगों के साथ धोखा : राघव चड्ढा
दिल्ली

होटलों और साप्ताहिक बाजारों को फिर से खोलने के फैसले को खारिज करना दिल्ली के लोगों के साथ धोखा : राघव चड्ढा

news

नई दिल्ली, 31 जुलाई (हि. स.)। आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और विधायक राघव चड्ढा ने शुक्रवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल द्वारा दिल्ली में होटलों और साप्ताहिक बाजारों को फिर से खोलने की अनुमति नहीं देने के फैसले की आलोचना की। उन्होंने कहा कि होटलों और साप्ताहिक बाजारों को फिर से खोलने के ‘आप’ सरकार के फैसले को खारिज करके केंद्र सरकार ने दिल्ली के 20 लाख लोगों को धोखा दिया है। पार्टी मुख्यालय में शुक्रवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए चड्ढा ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है, जैसे केंद्र में बैठी भाजपा सरकार को दिल्ली की जनता और दिल्ली की जनता द्वारा चुनी हुई सरकार को दुख पहुंचा कर सुख की अनुभूति होती है। राघव चड्ढा ने कहा कि यह पहली बार नहीं है, इससे पहले भी कई बार केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार के कामकाज में दखल देकर उनके आदेशों को पलटा है। उदाहरण के तौर पर दिल्ली सरकार का होम आइसोलेशन मॉडल। वह होम आइसोलेशन मॉडल जिसका डंका पूरी दुनिया में बज रहा है। केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार के उस होम आइसोलेशन मॉडल को रद्द कर दिया था। जब दिल्ली की जनता ने और दिल्ली की सरकार ने केंद्र सरकार के इस फैसले का विरोध किया तो उनको अपना फैसला वापस लेना पड़ा और होम आइसोलेशन मॉडल को पुनर्स्थापित करना पड़ा। दूसरा उदाहरण देते हुए राघव चड्ढा ने कहा कि हाल ही में दिल्ली में हुए दंगों के मामले में न्यायालय में चल रहे मुकदमे के संबंध में जो वकील दिल्ली सरकार ने चुने और कोर्ट में प्रस्तुत होने का उन्हें अधिकार दिया, उन वकीलों को केंद्र सरकार द्वारा बदल दिया गया। वकीलों के उस पैनल को केंद्र सरकार ने खारिज कर दिया। इसी कड़ी में तीसरा और सबसे दुखद उदाहरण आज का है, जिसमें केंद्र सरकार ने एक चुनी हुई दिल्ली सरकार का वह आदेश जिसमें दिल्ली के सभी होटलों को और साप्ताहिक बाजारों को खोलने की अनुमति केजरीवाल सरकार ने दी, उस अनुमति को केंद्र सरकार ने खारिज कर दिया। चड्ढा ने केंद्र सरकार को हिदायत देते हुए कहा कि दिल्ली की जनता और जनता द्वारा चुनी हुई दिल्ली सरकार के दुख में आनंद की अनुभूति करने वाली केंद्र सरकार, दिल्ली में होटल और साप्ताहिक बाजार को खोलने पर रोक लगाने वाले अपने इस तुगलकी फरमान को वापस ले और दिल्ली की जनता के हक में केजरीवाल सरकार को दिल्ली के होटल और साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति दे। उल्लेखनीय है कि दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने शुक्रवार को अनलाॅक-3 के तहत होटलों को खोलने और ट्राॅयल के आधार पर साप्ताहिक बाजारों को खोलने की अनुमति देने के दिल्ली सरकार के फैसले को रद्द कर दिया। हिन्दुस्थान समाचार /प्रतीक खरे-hindusthansamachar.in