दिल्ली में फिर बढ़ा कोरोना से मौत का आंकड़ा, सकारात्मकता दर 1 प्रतिशत के नीचे स्थिर

दिल्ली में फिर बढ़ा कोरोना से मौत का आंकड़ा, सकारात्मकता दर 1 प्रतिशत के नीचे स्थिर
corona-death-toll-rises-again-in-delhi-positivity-rate-stable-below-1-percent

नई दिल्ली, 10 जून ( हि. स.)। दिल्ली में कोरोना संक्रमण के नए मामले में कमी आई है लेकिन बीते दिन की तुलना में मौत के आंकड़ों में एक बार फिर इजाफा देखा गया है। गुरुवार को दिल्ली सरकार की तरफ से जारी किए गए दैनिक बुलिटेन के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना संक्रमण के 305 नए मामले आये हैं और 44 मौतें दर्ज की गईं। कोरोना की सकारात्मकता दर 0.41 प्रतिशत रही जबकि बुधवार को, राष्ट्रीय राजधानी में 0.46 प्रतिशत की सकारात्मकता दर और 36 मौतें हुई थीं। वहीं बीते दिन 337 नए संक्रमण के मामले सामने आए थे। राष्ट्रीय राजधानी में अब तक 14,30,433 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं और इनमें से 14,01,473 मरीज संक्रमण से उबर चुके हैं। 24,748 मरीजों की संक्रमण से मौत हुई है। इस समय 4,212 मरीजों का इलाज चल रहा है। केजरीवाल ने सिरसपुर स्थित ऑक्सीजन स्टोरेज सेंटर का दौरा किया भले ही राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के मामलों में कमी देखने को मिल रही हो लेकिन दिल्ली सरकार ने कोरोना की सम्भावित तीसरी लहर पर तैयारी शुरू कर दी है। दिल्ली सरकार पिछले अनुभवों को ध्यान में रखते हुए ऑक्सीजन की प्रचुर मात्रा में व्यवस्था करने पर ध्यान दे रही है। इसी क्रम में गुरुवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सिरसपुर स्थित ऑक्सीजन स्टोरेज सेंटर का दौरा किया। यहां 57 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भंडारण क्षमता का क्रायोजेनिक टैंक लगाया जा रहा है, साथ ही यहां 12.5 टन प्रतिदिन की उत्पादन क्षमता वाला ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट भी बनाया रहे हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री ने देश में वैक्सीन की कमी पर की बात दोहराई, उन्होंने कहा कि ' इस समय देश मे वैक्सीन की बड़ी समस्या है।ये अच्छी चीज है कि केंद्र सरकार ने 21 जून से वैक्सीन देने की बात कही है। ये निर्णय उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय के दबाव के बाद लिया है। लेकिन 21 जून के बाद कहाँ से आएगी वैक्सीन ये बड़ा सवाल है। अगर वैक्सीन हमे उपलब्ध हो जाये तो हमने जो मॉडल दिल्ली में बनाया है ( 'जहां वोट वहाँ वैक्सीनेशन') उसे अगर पूरे देश में लागू किया जाए तो दो से तीन महीने में पूरे देश को वैक्सिनेशन किया जा सकता है। हिन्दुस्थान समाचार/ श्वेतांक