दिल्ली में वैक्सीन संकट के बीच मुख्यमंत्री केजरीवाल ने केंद्र को दिए चार सुझाव

दिल्ली में वैक्सीन संकट के बीच मुख्यमंत्री केजरीवाल ने केंद्र को दिए चार सुझाव
chief-minister-kejriwal-gave-four-suggestions-to-the-center-amidst-the-vaccine-crisis-in-delhi

नई दिल्ली, 22 मई (हि. स.)। राष्ट्रीय राजधानी में वैक्सीन की कमी का संकट एक बार फिर से गहराता जा रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रेस वार्ता कर इस विषय पर जानकारी दी साथ ही इस कमी को दूर करने के लिए उन्होंने केंद्र सरकार को चार सुझाव भी दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि 'केंद्र सरकार ने युवाओं के लिए जितनी वैक्सीन भेजी थी वो खत्म हो गई हैं। केंद्र से हमने और वैक्सीन मांगी हैं।मुझे बहुत दुख है कि वैक्सीन खत्म होने के कारण हमें 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन सेंटर बंद करने पड़ रहे हैं।' केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर वैक्सीन का कोटा कम करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केंद्र ने दिल्ली का वैक्सीन का कोटा और कम कर दिया है। दिल्ली को हर महीने 80 लाख वैक्सीन की जरूरत है वहीं इसके मुकाबले मई में केवल 16 लाख डोज हमे मिले हैं। जबकि आने वाले जून महीने लिए केवल आठ लाख वैक्सीन दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि 'अगर हर महीने 8 लाख वैक्सीन मिली तो 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण में तीस महीने से ज्यादा का समय लग जाएगा। इसके साथ मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार को वैक्सीन की कमी को पूरा करने के लिए चार सुझाव दिए हैं। जिसमें उन्होंने देश की दूसरी कंपनियों को वैक्सीन बनाने के निर्देश देने की बात कही है । इसके साथ दूसरी सभी विदेशी वैक्सीन को 24 घंटे के अंदर भारत में इस्तेमाल करने की अनुमति देने की बात भी उन्होंने अपने सुझाव में रखी है। इसके अलावा केजरीवाल का कहना है कि भारत सरकार को विदेश से वैक्सीन आयात के लिए खुद आगे आना चाहिए। राज्य अगर वैक्सीन खरीदने दूसरे देशों में जाएंगे तो देश की साख खराब होगी। वहीं कुछ देश जिन्होंने जनसंख्या से ज्यादा वैक्सीन जमा कर रखी हैं, भारत सरकार को उनसे वैक्सीन लेने की गुजारिश करनी चाहिए इसके अलावा मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से सभी विदेशी कंपनियों को भारत में वैक्सीन उत्पादन करने की तुरंत अनुमति की भी मांग की है। हिन्दुस्थान समाचार/ श्वेतांक

अन्य खबरें

No stories found.