कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए 'संजीवनी' की शुरुआत

कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए 'संजीवनी' की शुरुआत
39sanjeevani39-launches-in-view-of-growing-cases-of-kovid

नई दिल्ली, 01 मई (हि.स)। राजधानी में कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए अस्पतालों से बोझ कम करने की कवायद शुरू हो गई है। इसी कड़ी में दिल्ली पुलिस ने लोकल आरडब्ल्यू के साथ मिलकर सिविल लाइन इलाके में एक कोविड केयर सेंटर की शुरू की है। 'संजीवनी' के नाम से शुरू किए गए 20 बैड के कोविड केयर सेंटर में हल्के लक्षण वालों मरीजों का इलाज किया जाएगा। यहां ऑक्सीजन की भी व्यवस्था होगी। सिविल लाइंस के गंगे सीनियर सैकेंडरी स्कूल में इसकी शुरूआत की गई है। डॉक्टर और बाकी स्टाफ की देखरेख में इलाज होने के अलावा यहां पर एक एंबुलेंस की भी व्यवस्था की गई है। कोविड केयर सेंटर के लिए बकायदा एक हेल्प लाइन नंबर-8800312860 भी जारी किया गया है। सेंटर में आने से पूर्व मरीज के परिजन नंबर पर पूछताछ भी कर सकेंगे। उत्तरी जिला पुलिस उपायुक्त अंटो अल्फोंस ने बताया कि पिछले दिनों एलजी ने निर्देश दिया था कि यदि आरडब्ल्यूए और एनजीओ चाहे तो अपने इलाकों में छोटे कोविड केयर सेंटर की शुरूआत कर सकते हैं। यहां हल्के लक्षण वाले मरीजों की देखरेख करके अस्पतालों में बोझ कम किया जा सकता है। इसी कड़ी में पहल करते हुए उत्तरी जिला पुलिस ने सिविल लाइंस वेलफेयर ऐसासिएशन के साथ मिलकर कोविड केयर सेंटर ' संजीवनी ' की शुरूआत की। सेंटर में ऑक्सीजन की भी व्यवस्था की गई। पुलिस और आरडब्ल्यूए के सांझा प्रयासों से यहां पर फिलहाल 17 ऑक्सीजन कन्संट्रेटर का इंतजाम किया गया है। इसके अलावा यहां पर खाने-पीने, शौचालय जैसी मूलभूत सभी प्रकार की व्यवस्थाओं का इंतजाम किया गया है। मल्कागंज में गौरी नर्सिंग होम के डॉक्टर चंदर प्रकाश और उनकी टीम की देखरेख में मरीजों का इलाज किया जाएगा। उपायुक्त ने बताया कि सेंटर की शुरुआत शनिवार सुबह से हो गई। स्पेशल सीपी राजेश खुराना ने ऑन लाइन इसका उद्धाटन किया। इस मौके पर जिला पुलिस उपायुक्त अंटो अल्फोंस, सिविल लाइंस थाना प्रभारी अजय कुमार और आरडब्ल्यूए के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे। कोविड केयर सेंटर के लिए सिविल लाइंस स्थित गंगे गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 20 बैड डालकर इंतजाम किया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि इस तरह के प्रयासों से निश्चय ही हम लोग कोरोना से जंग को जीत लेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/ अश्वनी