मिलावटी आलू के खिलाफ आवाज उठाने पर मिली जान से मारने की धमकी
मिलावटी आलू के खिलाफ आवाज उठाने पर मिली जान से मारने की धमकी
दिल्ली

मिलावटी आलू के खिलाफ आवाज उठाने पर मिली जान से मारने की धमकी

news

नई दिल्ली, 31 जुलाई (हि.स.)। राजधानी की आजादपुर सब्जी मंडी में मिलावटी आलू के कारोबार के खिलाफ आवाज उठाने पर आलू के आढ़ती एवं किसान नेता संदीप खंडेलवाल को जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। खंडेलवाल का कहना है कि यहां के कई आलू व्यापारी समान्य आलू को पहाड़ी आलू की शक्ल देकर उचे दामों पर बेच रहे हैं जबकि इस मंडी में पहाड़ की तरफ से कई महिनों से कोई आलू नहीं आ रहा है। संदीप खंडेलवाल का आरोप है कि सामान्य आलू को पहाड़ी आलू बनाकर बेचने के लिए जो चीजें इस्तेमाल की जाती हैं, उनमें खतरनाक कैमिकल पाया गया है। इसकी शिकायत कई बार मंडी प्राशासन, चेयमैन, दिल्ली के खाद्य विभाग को की गई है लेकिन इस कारोबार से जुड़े लोगों के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया गया। खाद्य विभाग की टीम ने सैंपल भी उन स्थानों से नहीं लिए जहां ये नकली आलू बेचा जाता है, बल्कि सैंपल ऐसे स्थान से लिए गए जहां पर सामान्य आलू इमानदारी से बेचा जाता है। किसान नेता खंडेलवाल ने बताया कि मैने मंडी प्रशासन एवं सरकारी विभागों के इस लचर रवैये को देखते हुए बीते दिनों मिलावटी आलू के बारे में सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट डाली, तो मामला स्थानीय मीडिया से लेकर बड़े अखबारों तक पहुंचा। इसे देख मिलावटी आलू के गोरख धंधे से जुड़े आढ़तियों एवं अधिकारियों में घबराहट का माहौल बना है। यही करण है कि इन लोगों ने मुझ पर गुरुवार रात उस समय जानलेवा हमला करवाया और जान से मारने की धमकियां दी गई जब मैं आजादपुर मंडी में 14 नंबर सैड पर किसी को जहरीले आलू दिखा रहा था। इसके बाद आज फिर जान से मारने की धमकी दी गई। उन्होंने बताया कि उन्होंने फिलहाल थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। हिन्दुस्थान समाचार / राजेश-hindusthansamachar.in