मंडोली में पूर्वी निगम ने धूल के कणों को रोकने के लिए करवाया विशेष रसायन पानी से छिड़काव
मंडोली में पूर्वी निगम ने धूल के कणों को रोकने के लिए करवाया विशेष रसायन पानी से छिड़काव
दिल्ली

मंडोली में पूर्वी निगम ने धूल के कणों को रोकने के लिए करवाया विशेष रसायन पानी से छिड़काव

news

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (हि.स.)। दिल्ली में बढ़ते धूल कणों के प्रदूषण के मद्देनजर पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने बुधवार को मंडोली क्षेत्र में विशेष प्रकार के रसायन का छिड़काव कराया। इस मौके पर महापौर निर्मल जैन, उपमहापौर, हरि प्रकाश बहादुर, स्थायी समिति अध्यक्ष, सत्यपाल सिंह, शाहदरा (उत्तरी क्षेत्र) के अध्यक्ष, के के अग्रवाल और निगम के अधिकारी मौजूद रहे। महापौर जैन ने बताया कि डस्ट सप्रेसेंट (मैग्नीशियम क्लोराइड हाइड्रेटिड फ्लेक्स) 8-10 घंटे तक धूल को कम करने में मदद करता है, जबकि पानी धूल कणों को 15-30 मिनट तक ही दबाता है। पिछले साल भी पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने धूल कणों से हो रहे वायु प्रदूषण को कम करने के लिए सड़कों और अन्य सतहों पर डस्ट सप्रेसेंट का प्रयोग किया था। इस वर्ष भी, निगम धूल से प्रभावित क्षेत्रों पर वाटर स्प्रिंकलर के माध्यम से पानी के साथ मिश्रित डस्ट सप्रेसेंट (1.0 से 1.5 प्रतिशत, यानी 9000 लीटर पानी में 50 किलोग्राम के दो बैग) का छिड़काव कर रहा है। उन्होंने कहा कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम प्रदूषण की रोकथाम के विभिन्न स्थानों पर सघन अभियान चला रहा है और स्थानीय पार्षदों के साथ मिलकर निगम सभी वार्डों में रणनीति के अनुसार हवा की गुणवत्ता को सुधारने के उपाय कर रहा है। स्थायी समिति अध्यक्ष सत्यपाल सिंह ने बताया कि पूर्वी दिल्ली नगर निगम द्वारा प्रदूषण के खिलाफ अभियान में नवीन और आधुनिक माध्यमों का सहारा लिया जा रहा है। डस्ट सप्रेसेंट का छिड़काव भी उन्हीं में एक प्रयास है। हिन्दुस्थान समाचार/वीरेन-hindusthansamachar.in