प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ उत्तरी दिल्ली निगम ने की कार्रवाई
प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ उत्तरी दिल्ली निगम ने की कार्रवाई
दिल्ली

प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ उत्तरी दिल्ली निगम ने की कार्रवाई

news

नई दिल्ली, 18 अक्टूबर (हि.स.)। उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) ने खुले में कूड़ा जलाने और वायु प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए शनिवार तक इस महीने में 38.43 लाख रुपये के 1761 चालान किए हैं। निगम ने रविवार को यह जानकारी दी। उत्तरी दिल्ली निगम ने बताया कि एक अक्टूबर से कल तक खुले में कूड़ा जलाने वालों के खिलाफ 26.43 लाख रुपये के 1,702 चालान किए गए हैं और वायु प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ एक अक्टूबर से 16 अक्टूबर 2020 तक 12 लाख रुपये के 59 चालान किए गए हैं। इसके अतिरिक्त निगम ने अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले विभिन्न विभागों जैसे कि डीडीए, लोक निर्माण विभाग, सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग द्वारा अपनी भूमि पर कूड़े एवं निर्माण और विध्वंस अपशिष्ट से प्रदूषण फैलाने के लिए 86 चालान किए हैं। एनडीएमसी के अनुसार उसने विभिन्न सरकारी एजेंसियों जैसे कि दिल्ली सरकार, डीडीए, लोक निर्माण विभाग, सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग, भारतीय रेलवे से अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले अनपेक्षित क्षेत्रों की देखरेख करने को कहा जो प्रदूषण का कारण बन रहे हैं। उनके अधिकार क्षेत्र में आने वाला कुल अनपेक्षित क्षेत्र का क्षेत्रफल 16,87,413 वर्गमीटर है। उत्तरी निगम ने बताया कि उसने 134 वाटर स्प्रिंकलर टैंकरों को पानी छिड़कने के कार्य में लगाया है, जो प्रतिदिन लगभग 1340 किलोमीटर तक पानी का छिड़काव करते हैं। जीपीएस तकनीक से लैस 18 मैकेनिकल रोड स्वीपर लगभग 650 किलोमीटर सड़कों की रोज सफाई कर रहे हैं। बाजारों, विद्यालयों, संस्थानों आदि में 109.88 एकड़ क्षेत्र में पौधरोपण कर हरा-भरा बनाया गया है। 69.11 किलोमीटर सड़क के किनारे पौधरोपण किया गया है। 54 स्थानों पर वर्टिकल गार्डन विकसित किए गए हैं। ये सभी उपाय क्षेत्र को हरा-भरा बनाने व प्रदूषण को कम करने के लिए किए गए हैं। निगम नागरिकों से अपील करती है कि वे संबंधित एजेंसियों द्वारा प्रदूषण नियंत्रण के लिए समय-समय पर जारी निर्देशों का पालन करें अन्यथा निगम नियमों व प्रावधानों के अनुसार प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/ वीरेन्द्र-hindusthansamachar.in