दिल्ली हिंसाः पुलिसकर्मियों पर गोली चलाने के आरोपित विक्रम की जमानत याचिका खारिज
दिल्ली हिंसाः पुलिसकर्मियों पर गोली चलाने के आरोपित विक्रम की जमानत याचिका खारिज
दिल्ली

दिल्ली हिंसाः पुलिसकर्मियों पर गोली चलाने के आरोपित विक्रम की जमानत याचिका खारिज

news

नई दिल्ली, 21 नवम्बर (हि.स.)। दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट ने दिल्ली हिंसा के दौरान बाबरपुर में पुलिसकर्मियों पर गोली चलाने के आरोपित विक्रम सिंह की जमानत याचिका खारिज कर दी है। एडिशनल सेशंस जज अमिताभ रावत ने कहा कि आरोपित को दंगाइयों की भीड़ में सीसीटीवी फुटेज में देखा गया है और वह काफी आक्रामक मुद्रा में डंडा और पत्थर चला रहा था। आरोपित की ओर से वकील अशोक कुमार ने कोर्ट को बताया कि उसे पुलिस ने झूठे तरीके से फंसाया है और उसका अपराध से कोई लेना-देना नहीं है। उसे वेलकम थाने में दर्ज एफआईआर नंबर 111 में जमानत मिल चुकी है। वह पिछले 18 मार्च से न्यायिक हिरासत में है। अशोक कुमार ने बताया कि एफआईआर में आरोपित का नाम नहीं था। आरोपित के पास से कुछ भी बरामद नहीं किया गया। उसका पूर्व इतिहास साफ-सुथरा रहा है और वह अपने घर का एकमात्र कमाऊ सदस्य है। उन्होंने कहा कि इस मामले में जांच पूरी हो चुकी है और चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है, इसलिए अब आगे उसकी हिरासत की जरूरत नहीं है। दिल्ली पुलिस की ओर से वकील सलीम अहमद ने कहा कि एएसआई धर्मेंद्र सिंह की शिकायत पर यह एफआईआर दर्ज की गई है। धर्मेंद्र सिंह ने अपनी शिकायत में कहा कि 25 फरवरी को जब वह बाबरपुर के शिव मंदिर के पास सौ फुटा रोड पर ड्यूटी पर तैनात थे तो एक समुदाय नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करते हुए पहुंचा। वहीं पर दूसरा समुदाय नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में पहुंचा। दोनों समुदाय एक-दूसरे के आमने-सामने आ गए और एक-दूसरे पर पत्थरबाजी और फायरिंग करने लगे। पत्थरबाजी और फायरिंग में कई आम लोग और पुलिस वाले घायल हुए। उन्होंने कहा कि आरोपित को सीसीटीवी फुटेज में देखा गया, जिसमें वह दोनों हाथों में ईंट और पत्थर लिये हुए था और दूसरे समुदाय पर फेंक रहा था। हिन्दुस्थान समाचार/संजय-hindusthansamachar.in