दिल्ली सरकार पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी जमा कराए बच्चों की बोर्ड फीस : गुप्ता
दिल्ली सरकार पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी जमा कराए बच्चों की बोर्ड फीस : गुप्ता
दिल्ली

दिल्ली सरकार पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी जमा कराए बच्चों की बोर्ड फीस : गुप्ता

news

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (हि.स.)। दिल्ली भाजपा ने केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाया है कि केजरीवाल ने चुनाव में लाभ लेने के लिए साल 2019 में 10वीं और 12वीं में पढ़ने वाले बच्चों की बोर्ड फीस भरी थी, लेकिन इस साल इससे मुकर गई है। केजरीवाल सरकार के इस कदम से कई छात्र बोर्ड परीक्षा देने से वंछित हो सकते हैं। गुप्ता ने केजरीवाल से अनुरोध किया है कि वह बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ न करें और पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी उनके बोर्ड की फीस जमा करें। गुप्ता ने बुधवार को एक बयान में कहा कि बोर्ड परीक्षा के लिए प्रति छात्र 1500-2500 रुपये तक फीस जमा किए जाते हैं। छात्रों को भी अपने वोट बैंक के लिए इस्तेमाल करते हुए 17 सितम्बर 2019 को केजरीवाल सरकार ने ऐलान किया कि 2019-20 सत्र के लिए 10वीं व 12वीं कक्षा के लगभग साढ़े 3 लाख छात्रों की परीक्षा फीस दिल्ली सरकार जमा करेगी और लगभग 57 करोड़ रुपये सीबीएसई को जमा कराए थे। लेकिन इस वर्ष जब छात्रों के अभिभावक इस उम्मीद में थे कि केजरीवाल सरकार उनकी परिस्थितियों को देखते हुए बोर्ड परीक्षा की फीस जमा करेगी, लेकिन केजरीवाल सरकार ने फीस देने से मना कर अभिभावकों की उम्मीदों पर पानी फेरते हुए बच्चों के भविष्य को ताक पर रख दिया। उन्होंने कहा कि संकट का यह समय लोगों से राहत छीनने का नहीं बल्कि उन्हें राहत देने का समय है। हिन्दुस्थान समाचार/वीरेन-hindusthansamachar.in