दिल्ली सरकार ने अस्पतालों का निरीक्षण करने, प्रोटोकाॅल को सुनिश्चित कराने और मौतों की जांच के लिए किया चार समितियों का गठन
दिल्ली सरकार ने अस्पतालों का निरीक्षण करने, प्रोटोकाॅल को सुनिश्चित कराने और मौतों की जांच के लिए किया चार समितियों का गठन
दिल्ली

दिल्ली सरकार ने अस्पतालों का निरीक्षण करने, प्रोटोकाॅल को सुनिश्चित कराने और मौतों की जांच के लिए किया चार समितियों का गठन

news

नई दिल्ली, 30 जुलाई (हि.स.)। दिल्ली सरकार ने गुरुवार को चार समितियों के गठन का आदेश देते हुए कोविड अस्पतालों का निरीक्षण करने और अस्पतालवार मानक के अनुसार उनके संचालन प्रक्रियाओं और प्रोटोकॉल का पालन करने का निर्देश जारी किया। ये समितियां राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना मरीजों का इलाज करने वाले अस्पतालों में कोविड-19 की मौतों के पीछे के कारणों की भी जांच करेंगी। राज्य के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के आदेश के मुताबिक, ‘यह देखा गया है कि अस्पतालों में भर्ती होने की तुलना में मौतों का प्रतिशत और सरकारी व निजी क्षेत्र के 11 अस्पतालों के वार्डों में कोविड मौतों का प्रतिशत 1 जुलाई से 23 जुलाई के बीच उच्च स्तर पर था। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘दिल्ली में कोरोना के कारण होने वाली मौतों में कमी आई है, लेकिन इसे और कम करना होगा। आज, हमने डॉक्टरों की चार समितियों का गठन किया है, जो इन अस्पतालों का निरीक्षण करके सुझाव देंगी। पहला, जहां अभी भी अधिक मौतें हो रही हैं और दूसरा, जहां वार्डों में ज्यादा मौतें हो रही हैं, यानि मरीज को समय पर आईसीयू नहीं ले जाया गया।’’ फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट, मैक्स अस्पताल, साकेत, आरएमएल अस्पताल और सेंट स्टीफन जैसे अस्पताल उन 10 अस्पतालों में शामिल हैं, जिनकी जांच गठित समितियों द्वारा की जाएगी। समितियों में वरिष्ठ चिकित्सक शामिल हैं। आज की तारीख में दिल्ली में कोरोना के 10770 एक्टिव केस हैं। दिल्ली में कुल 1,33,310 केस हैं, जिसमें से 88.99 प्रतिशत या 1,18,633 मरीज ठीक हो चुके हैं। हिन्दुस्थान समाचार /प्रतीक खरे-hindusthansamachar.in