केन्द्र सरकार जनता की कमाई से अखबारों में अंग्रेजी में विज्ञापन देकर अपना चेहरा चमका रही : राघव चड्ढा
केन्द्र सरकार जनता की कमाई से अखबारों में अंग्रेजी में विज्ञापन देकर अपना चेहरा चमका रही : राघव चड्ढा
दिल्ली

केन्द्र सरकार जनता की कमाई से अखबारों में अंग्रेजी में विज्ञापन देकर अपना चेहरा चमका रही : राघव चड्ढा

news

नई दिल्ली, 22 सितम्बर (हि.स.)। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने केन्द्र सरकार पर जनता की कमाई विज्ञापन पर खर्च करने का आरोप लगाया है। चड्ढा ने मंगलवार को कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार देश की जनता की गाढ़ी कमाई से अखबारों में अंग्रेजी में विज्ञापन देकर अपना चेहरा चमकाने की कोशिश कर रही है। राघव चड्ढा ने पूछा कि भाजपा बताए देश के 62 करोड़ किसान और कृषि क्षेत्र के मजदूरों में वे कौन से लोग हैं, जो अंग्रेजी विज्ञापन को पढ़कर मिनिमम सपोर्ट प्राइस, पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम और पब्लिक सिक्योरमेंट को समझेंगे। चड्ढा ने कहा कि अंग्रेजी में विज्ञापन देना, क्या गरीब, दबे, कुचले व छले किसानों का मजाक उड़ाना नहीं है, क्या उसके जख्मों पर नमक छिड़कना नहीं है? चड्ढा ने कहा कि 2015-16 का एग्रीकल्चरल सर्वे यह कहता है कि देश में 80 प्रतिशत किसानों के पास 2 एकड़ से भी कम जमीन है, वह गरीब किसान आज अपने गांव से साथ वाले गांव में अपनी फसल बेचने के लिए नहीं लेकर जा पाता है। क्या आज वह गरीब किसान अपनी मॉर्निंग कैपचीनों के साथ इस अंग्रेजी में इस्तिहार को पढ़ेगा और समझेगा? क्या यह टैक्स देने वालों के पैसे की फिजूलखर्ची नहीं है और अपना चेहरा चमकाना, दुष्प्रचार करना, भ्रमित करने का एक हथकंडा नहीं है, तो क्या है। चड्ढा ने कहा कि आज हम भारतीय जनता पार्टी को साफ तौर पर चेतावनी देना चाहते हैं कि किसान को आपने जो ठगने की कोशिश की है और अब अंग्रेजी में विज्ञापन देकर मोदी सरकार अपना जो चेहरा चमकाना चाहते हैं। इस चीज को देश का गरीब किसान आवश्य याद रखेगा और इस देश का गरीब किसान सड़क से लेकर संसद तक इन दुष्कर्मों के लिए आपसे प्रायश्चित भी करवाएगा। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद एनडी गुप्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कई बार कहा है और उनके मंत्रियों ने भी कहा है कि हम किसान की आय 2022 तक दोगुना कर देंगे। किसान की आय कैसे दोगुना कर देंगे, इसका उन्होंने फार्मूला भी दिया है। उन्होंने कहा कि क्राफ्ट प्राइस और 50 प्रतिशत मुनाफा जोड़ कर करेंगे। आज इस बिल के माध्यम से जो राज्यसभा में पास हुआ है। आज यह कर दिया है कि किसान अपना माल बाहर जाकर कहीं पर भी बेचे, लेकिन उस माॅल के कास्ट प्राइस और एमएसपी का कोई लेना देना नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार /प्रतीक खरे-hindusthansamachar.in