आप प्रवक्ता भारद्वाज ने उप्र के 65 जिलों में कोरोना किट की खरीद पर लगाया करोड़ों के भ्रष्टाचार का आरोप
आप प्रवक्ता भारद्वाज ने उप्र के 65 जिलों में कोरोना किट की खरीद पर लगाया करोड़ों के भ्रष्टाचार का आरोप
दिल्ली

आप प्रवक्ता भारद्वाज ने उप्र के 65 जिलों में कोरोना किट की खरीद पर लगाया करोड़ों के भ्रष्टाचार का आरोप

news

नई दिल्ली, 12 सितम्बर (हि.स.)। आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने शनिवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि उत्तर प्रदेश के करीब 65 जिलों के एक लाख ग्राम पंचायतों में कोरोना किट की खरीद में करोड़ों रुपये का भ्रष्टाचार हुआ है। मार्केट में यह कोरोना किट (ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, सैनिटाइजर और मास्क) 2700 से 2800 रुपये में मिल सकती है, लेकिन इसे 300 से 500 प्रतिशत अधिक कीमत में खरीदा गया। भारद्वाज ने कहा कि गांधी परिवार और कांग्रेस पर आरोप है कि उन्होंने 60 साल तक देश को लूटा, मगर योगी ने इस विपत्ति के समय में गांधी परिवार को भी पीछे छोड़ दिया। इस भ्रष्टाचार में पंचायतें शामिल नहीं हैं, बल्कि भाजपा सरकार के शीर्ष अधिकारी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के ही विधायक देवमणि द्विवेदी और भाजपा नेता रामपाल सिंह पुंडीर ने महंगे दामों पर सामग्री खरीदे जाने की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है। इसके बाद भी अधिक कीमतों का भुगतान किया जाता रहा। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि जब मुख्यमंत्री पर स्वयं भ्रष्टाचार को संरक्षण देने का आरोप लग रहे हैं, तो उनके द्वारा गठित तीन अधिकारियों की कमेटी इसकी निष्पक्ष जांच कैसे कर सकती है। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि इसकी निष्पक्ष जांच करने के लिए किसी स्वतंत्र जांच एजेंसी को जिम्मेदारी सौंपी जाए। भारद्वाज ने कहा कि यह बड़ा ही हास्यास्पद है कि जिस भ्रष्टाचार के लिए खुद मुख्यमंत्री पर आरोप लग रहे हैं, उस भ्रष्टाचार की जांच करने के लिए खुद मुख्यमंत्री ने ही 3 लोगों की एक कमेटी गठित कर दी। यह सोचने वाली बात है कि जिस मुख्यमंत्री ने इन तीन अधिकारियों की कमेटी गठित की है, वह अधिकारी जो उस मुख्यमंत्री के प्रति जवाबदेह हैं, वह कैसे मुख्यमंत्री के द्वारा ही किए गए इस भ्रष्टाचार की निष्पक्ष जांच कर सकेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/प्रतीक खरे-hindusthansamachar.in