प्रवासी श्रमिकों की दुर्दशा एक दुखद और अंतहीन कथा: केरल उच्च न्यायालय

प्रवासी श्रमिकों की दुर्दशा एक दुखद और अंतहीन कथा: केरल उच्च न्यायालय
प्रवासी-श्रमिकों-की-दुर्दशा-एक-दुखद-और-अंतहीन-कथा-केरल-उच्च-न्यायालय

कोच्चि, सात सितंबर (भाषा) केरल उच्च न्यायालय ने मंगलवार को कहा कि प्रवासी श्रमिकों की दुर्दशा, घरों और परिवार से उनकी दूरी एक दुखद व अंतहीन कहानी है। अदालत ने अपनी लिव-इन पार्टनर और नाबालिग बच्चे की हत्या करने के मामले में बंगाल के निवासी की दोषसिद्धि के खिलाफ दाखिल क्लिक »-www.ibc24.in

अन्य खबरें

No stories found.