ताजमहल की ‘लघुकृति’ बनाने वाले कलाकार आजीविका के लिये गढ़ रहे हैं देवताओं की मूर्तियां

ताजमहल की ‘लघुकृति’ बनाने वाले कलाकार आजीविका के लिये गढ़ रहे हैं देवताओं की मूर्तियां
ताजमहल-की-‘लघुकृति’-बनाने-वाले-कलाकार-आजीविका-के-लिये-गढ़-रहे-हैं-देवताओं-की-मूर्तियां

आगरा (उप्र), 11 अक्टूबर (भाषा) महामारी की वजह से आगरा में पर्यटन के केंद्र ‘ताजमहल’ को देखने के लिए विदेशी पर्यटक अब भी बड़ी संख्या में नहीं आ पा रहे हैं तो ऐसे में यहां के कलाकार आजीविका के लिये देवी-देवताओं की मूर्तियां बनाने का काम करने लगे हैं। कोविड-19 क्लिक »-www.ibc24.in

अन्य खबरें

No stories found.