कोविड-19 दिमाग और समाज को निरंकुशता की ओर धकेल सकता है

कोविड-19 दिमाग और समाज को निरंकुशता की ओर धकेल सकता है
कोविड-19-दिमाग-और-समाज-को-निरंकुशता-की-ओर-धकेल-सकता-है

(लियोर जमीग्रोद, यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज) कैम्ब्रिज (ब्रिटेन), नौ अक्टूबर (द कन्वरसेशन) इस तथ्य की जानकारी बहुत कम लोगों को होगी कि मनुष्यों में एक नहीं बल्कि दो प्रतिरक्षा प्रणाली होती है। पहला, जैव भौतिकी (बायोफिजिकल) प्रतिरक्षा प्रणाली – जिसके बारे में हम सभी ने बहुत सुना है जो संक्रमणों के क्लिक »-www.ibc24.in

अन्य खबरें

No stories found.