बीपीएससी के परीक्षा परिणाम में ओबीसी व सामान्य वर्ग के कट आउट मार्क्स एक क्यों

बीपीएससी के  परीक्षा परिणाम में ओबीसी व सामान्य वर्ग के कट आउट मार्क्स एक क्यों
why-obc-and-general-category-cut-out-marks-are-same-in-bpsc-exam-result

गया, 08 जून (हि.स.)| राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव सह प्रदेश अध्यक्ष ओबीसी महासभा बिहार अधिवक्ता बीरेन्द्र कुमार उर्फ बीरेन्द्र गोप ने बीपीएससी की ओर से आयोजित 64 वीं परीक्षा के परिणाम पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि ओबीसी के तथा कथित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने को नागपुरी संतरे के रंग में रंगकर पिछड़ा (आरक्षित) वर्ग एवं सामान्य(अनारक्षित) वर्ग का कट ऑफ मार्क्स बराबर कराकर पिछड़े वर्ग को मिल रहे आरक्षण का मजाक बनाते हुए अपने खराब डीएनए का सबूत दे दिया है। गोप के अनुसार नीतीश कुमार ने अपने पन्द्रह वर्षों के शासन काल में अपने खास जाति को आर्थिक व शैक्षणिक रुप से मजबूत कराकर बाकी पिछड़े वर्ग को लात मारने का काम किया है। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। बीरेन्द्र गोप ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कोरोना वैक्सीनेशन पॉलिसी में बदलाव पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि चाहे जैसे भी और जिन कारणों से हुआ हो,केन्द्र सरकार को भारी नीतिगत-खामियों से भरी अपनी टीका-नीति (Vaccination Policy)में कुछ संशोधन करना ही पड़ा। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार का यह आम स्वभाव नहीं रहा है।असंख्य बड़ी-बड़ी नीतिगत गलतियाँ करने के बावजूद वह उन पर कायम रहने की जिद पर अड़ी रही है,पर इस बार कुछ तो बदलाव दिखा-सरकार के स्वभाव में चाहे वह टीकाकरण-नीति में ही अपनी भारी गलतियों और नीतिगत बेवकूफियों पर सोचने के लिए मजबूर हो गयी। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/चंदा