शोक संतप्त परिवार के साथ विश्वविद्यालय खडा है : कुलपति

शोक संतप्त परिवार के साथ विश्वविद्यालय खडा है : कुलपति
university-stands-with-bereaved-family-vice-chancellor

दरभंगा, 17 मई (हि.स.)। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने वैश्विक महामारी ‘‘कोविड-19‘‘ की त्रासदी को राष्ट्र के लिए एक कठिन समय करार दिया है और तमाम देशवासियों से धैर्य के साथ इसके बचाव के नियमों के अनुपालन करने का अनुरोध किया है। प्रो सिंह ने अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि हाल के दिनों में मिथिला विश्वविद्यालय को बड़ी बौद्धिक क्षति हुई है। इस ‘‘कोविड‘‘ की महामारी में हमारे कई विद्वान शिक्षक एवं कर्मठ कर्मियों का असामयिक निधन हो गया। विश्वविद्यालय परिवार उन सभी शोक-संतप्त परिवारों के साथ दुःखद एवं कठिन समय में उनके साथ खड़ा है। विगत दो दिनों में हमारे बीच से प्रो रतन कुमार चैधरी, संकायाघ्यक्ष, विज्ञान; प्रो दयानन्द पासवान, स्नातकोत्तर मनोविज्ञान एवं अभिषद् सदस्य, बेचन यादव, परीक्षा विभाग के कर्तव्यनिष्ठ कर्मी का निधन विश्वविद्यालय के लिये अपूरणीय क्षति है। विश्वविद्यालय के अंगीभूत एवं सम्बद्ध कई काॅलेजों के शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों का भी इसी महामारी में देहान्त हुआ है। हम उन सबों के प्रति भी श्रद्धान्जलि अर्पित करते हैं। प्रो सिंह ने विश्वविद्यालय अन्तर्गत सभी काॅलेजों के एनएसएस एवं एनसीसी इकाईयों एवं विभिन्न छात्र-संगठनों के सदस्यों से भी अनुरोध किया है कि ‘‘मास्क‘‘ धारण करने एवं ‘‘कोविड‘‘ के वैक्सीन के अभियान में अपनी सक्रिय भूमिका का निर्वहन करें। क्योंकि यह महामारी राष्ट्रीय आपदा है। प्रति-कुली प्रो डाॅली सिन्हा एवं कुलसचिव प्रो मुश्ताक अहमद ने भी सभी दिवंगत आत्माओं के प्रति अपनी श्रद्धान्जलि अर्पित किया। हिन्दुस्थान समाचार/मनोज/चंदा