मुख्यमंत्री हर घर नल जल योजना की स्थिति बदहाल, निजी बोरिंग के सहारे ग्रामीणों की बुझ रही प्यास

मुख्यमंत्री हर घर नल जल योजना की स्थिति बदहाल, निजी बोरिंग के सहारे ग्रामीणों की बुझ रही प्यास
the-situation-of-chief-minister-har-ghar-nal-jal-yojana-is-poor-villagers-quenching-thirst-with-the-help-of-personal-boring

भागलपुर, 26 अप्रैल (हि.स.)। जिले के गोराडीह प्रखंड में मुख्यमंत्री हर घर नल जल योजना बदहाल स्थिति में है। इस योजना में हर घर में पानी पहुंचाने के लिए पानी की तरह पैसा बहाया गया। लेकिन इसका परिणाम आशा की विपरीत दिख रहा है। कहीं काम आधा अधूरा है, तो कहीं कछुआ गति से काम चल रहा है। आम लोगों को पीने का शुद्ध पानी नसीब नहीं हो रहा है। हर घर नल का जल पहुंचाने की योजना मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट अगरपुर पंचायत के वार्ड संख्या-15 गोहारियो गांव में पीने के पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। ग्रामीण स्थानीय बोरिंग वालों के रहमों करम पर किसी तरह गुजर बसर कर रहे हैं। गोहारियो गांव के यादव टोला में लगभग 50 घर की आबादी है, लेकिन किसी घर में जल नल योजना का कनेक्शन अभी तक नहीं पहुंचा है। गांव में लगे चार सरकारी चापानल खराब पड़े हैं। ग्रामीणों के चापानल ने भी पानी का लेयर नीचे जाने के कारण काम करना बंद कर दिया है। चापानल को मरम्मत के लिए ग्रामीण कई बार विभाग के समक्ष गुहार लगा चुके हैं। लेकिन इस दिशा में कोई पहल नहीं हुआ। विभागीय लोगों के कहने पर भी चापाकल का मरम्मत नहीं हो सका है। ग्रामीण मेंही लाल यादव, अनिल, संतोष, फंटूश, इंदल, छक्कू, नाजे, शंकर यादव ने बताया कि इस मामले को लेकर पंचायत से प्रखंड के पदाधिकारियों को कई बार जानकारी दी गयी। लेकिन समस्या जस का तस बनी हुई है। गांव में बजरंगी यादव व अजय यादव के निजी बोरिंग है। दिन में तीन बार लाइन लगा कर ग्रामीण पानी भरते हैं। बिजली नहीं रहने से परेशानी अलग होती है। उल्लेखनीय है कि यहां नल जल योजना का कार्य प्रगति पर है। बोरिंग का कार्य हो चुका है। टंकी लगाने के लिए मकान का निर्माण हो चुका है। आपूर्ति के लिए पाइप बिछाया गया है, लेकिन अब तक घर-घर पानी का टोटी नहीं पहुंचा है। ग्राम पंचायत सदस्य जयकांत यादव ने बताया कि यह लगभग 15 लाख रुपये की योजना है। 11 लाख का काम हो चुका है। बोरिंग का मोटर टेस्टिंग में ही जल गया है। हिन्दुस्थान समाचार/बिजय