भोजपुर में कोरोना की थमने लगी रफ्तार

भोजपुर में कोरोना की थमने लगी रफ्तार
the-pace-of-corona-stopped-in-bhojpur

आरा,11 जून(हि. स)।भोजपुर जिले में कोरोना संक्रमित मरीजो की संख्या में लगातार कमी आने लगी है।जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा,एसडीओ वैभव श्रीवास्तव और प्रखण्डों के बीडीओ और सीओ की सक्रियता से शहर से लेकर गांव तक एक साथ कई कार्यो को पूरा करते हुए वैश्वीक महामारी कोविड 19 को हराने की मुहिम अब सफल होते दिख रही है। जिला प्रशासन ने विशेष जांच अभियान चलाकर अधिकाधिक लोगो के कोरोना जांच,विशेष वाहन चलाकर कोरोना टिकाकरण,गरीबो के लिए सामुदायिक रसोई जैसे कार्यो को युध्द स्तर पर शुरू किया तो वही एसपी राकेश दुबे ने कोरोना को ले जारी हुए लॉक डाउन के सख्ती से पालन कराने का बेड़ा उठाकर कोरोना की गति को रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आरा सदर अस्पताल से लेकर पीएचसी तक के चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियो ने जान की परवाह न करके कोरोना संक्रमित मरीजो की सेवा की और पीछे नही हटे। आरा के सांसद और भारत सरकार के केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह,आरा के भाजपा विधायक और बिहार सरकार के कृषि मंत्री अमरेन्द्र प्रताप सिंह,बिहार के स्वास्थ्य मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री मंगल पाण्डेय सहित कई लोगो ने अपने अपने स्तर से कोरोना के विरुद्ध जंग में एक साथ कई कार्य कर कोरोना संक्रमण की दर को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। जिले के सामाजिक एवं स्वयं सेवी संगठनों के लोग भी कोरोना काल मे मानवता की अद्भुत मिशाल पेश कर रहे हैं। नतीजा है कि शुक्रवार को कोरोना संक्रमण दर के मामलों में काफी कमी पाई गई है और 2897 कोरोना जांच के बाद सिर्फ दो लोग ही कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। कोरोना के विरुद्ध जारी जंग में यह एक बड़ी कामयाबी कही जाएगी। अस्पताल प्रबंधन द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार भोजपुर जिले में फिलहाल कोरोना पॉजिटिव मरीजो की संख्या 54 पर पहुंच गई है जिसमे 48 लोगो को होम आईशोलेशन में रख कर इलाज किया जा रहा है।डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में 6 कोरोना संक्रमितों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। इंस्टीच्यूशनल आईशोलेशन में एक भी मरीज भर्ती नही हैं। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/