the-martyrdom-of-the-savior-of-national-unity-is-exemplary-for-us-vidyarthi-parishad
the-martyrdom-of-the-savior-of-national-unity-is-exemplary-for-us-vidyarthi-parishad
बिहार

राष्ट्रीय एकता के रक्षक का शहादत हमारे लिए अनुकरणीय : विद्यार्थी परिषद

news

बेगूसराय, 05 अप्रैल (हि.स.)। छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमला में शहीद सैनिकों के सम्मान में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) के तमाम इकाइयों द्वारा सोमवार को श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान विद्यार्थी परिषद नगर इकाई द्वारा जी डी कॉलेज परिसर में छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली हमले में सर्वोच्च शहादत देने वाले सैनिकों के सम्मान में दीप जलाकर श्रद्धांजलि अर्पित किया गया। प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सोनू सरकार एवं नगर मंत्री पुरुषोत्तम कुमार ने कहा कि जिस सैनिक के बदौलत हमारी भौगोलिक एकता और अखंडता कायम रहती हैै, उन पर नक्सलवादी तत्वों के द्वारा किया गया यह हमला विकृत और अराजकतावादी मानसिकता का परिचायक है। विद्यार्थी परिषद इसकी निंदा करती है और सरकार से मांग करती है कि इस प्रकार के तत्वों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए। कॉलेज अध्यक्ष आदित्य राज तथा नगर सह मंत्री अंशु कुमार ने कहा कि आज भी भारत जैसे प्राचीन लोकतांत्रिक मूल्यों वाले देश में कुछ कम्युनिस्ट और जिहादी तत्व छिपे हुए हैं, जिनका संपूर्ण खात्मा भारतीय समाज के हित में होगा। नगर सह मंत्री राहुल कुमार एवं कॉलेज कोषाध्यक्ष कुमार अमन ने कहा कि भारतीय समाज कभी भी खूनी क्रांति का समर्थक नहीं रहा है। लोकतांत्रिक मूल्य हमारे रगो में बसा हुआ है, जिसकी रक्षा हम किसी भी हालत में करेंगे। स्वाध्याय मंडल के जिला संयोजक दिव्यम कुमार एवं निशांत झा ने कहा कि आज भी भारत अपने सैनिकों के शौर्य पर गर्व महसूस करता है। हमारी सैन्य शक्ति ने 1965, 1971 और 1999 में अपने शौर्य का प्रदर्शन किया है और आगे भी इसी शौर्य के साथ भारत माता के आन बान और शान की रक्षा करते हैंं। छात्रा सह प्रमुख कौशिकी कुमारी एवं पूजा कुमारी ने कहा कि भारत की रक्षा में महिलाओं और पुरुष सैनिकों का संयुक्त योगदान है। जरूरत पड़ी तो महिलाएं भी सीमा पर एवं देश के अंदर छिपे नक्सलवादी तत्व को धूल चटाने का काम करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र?चंदा