राजद की वर्चुअल मीटिंग पर सुशील मोदी का तंज

राजद की वर्चुअल मीटिंग पर सुशील मोदी का तंज
sushil-modi39s-taunt-on-rjd39s-virtual-meeting

पटना,07 मई (हि.स.)। दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव को झारखंड हाईकोर्ट ने पिछले दिनों जमानत दी थी जिसके बाद वे जेल से बाहर आ गए। एम्स से डिस्चार्ज होने के बाद अब लालू बड़ी बेटी मीसा भारती के आवास पर हैं। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव रविवार 9 मई को वर्चुअल मीटिंग करने वाले हैं। लालू यादव लगभग साढ़े तीन साल बाद पहली बार किसी राजनीतिक बैठक में शामिल होने वाले हैं। तेजस्वी की मौजूदगी में वह आरजेडी के विधायकों और विधानसभा उम्मीदवारों को संबोधित करने वाले हैं। लालू की इस वर्चुअल मीटिंग पर बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने चिंता जताई है। सुशील मोदी ने शुक्रवार को कहा कि लालू प्रसाद को पहले अपने स्वास्थ्य और कोरोना लहर से परेशान बिहार की जनता की चिंता करनी चाहिए। सांसद सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट करके कहा कि “चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद को जमानत पर छोड़ने के लिए आधी सजा काटने से लेकर गंभीर बीमारियों से पीड़ित होने तक, कई दलीलें दी गई थीं। जमानत मिलते ही लालू यादव अपना राजनीतिक कार्यक्रम घोषित कर रहे हैं। अब पार्टी उनकी बीमारियों को भुला चुकी है। लालू प्रसाद को पहले अपने स्वास्थ्य और कोरोना लहर से परेशान जनता की चिंता करनी चाहिए। सुशील मोदी ने कहा कि राजद प्रमुख लालू यादव सुनिश्चित करें कि पार्टी अनाप-शनाप बयानबाजी बंद कर कोरोना पीड़ितों की सेवा में रचनात्मक सहयोग करे। बिहार के लोग सुरक्षित बचेंगे, तो वे बहुत राजनीति कर लेंगे। उल्लेखनीय है कि बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव 9 मई को दोपहर दो बजे राजद के विधायकों और नेताओं के साथ वर्चुअल मीटिंग करेंगे। इस मौके पर लालू यादव भी मौजूद रहेंगे। राजद के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर इसकी जानकारी गुरुवार को दी गई थी। जिसके बाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा कि “कितना भी वर्चुअल मीटिंग कर लीजिए ,अब सबको पता लग गया है कि बुरे वक़्त में आप अपनों का साथ छोड़ देतें हैं। साहब के साथ जो आपने किया उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। सब याद रखा जाएगा, सब कुछ याद रखा जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/चंदा