slr-did-not-shoot-in-salute-at-the-time-of-maulana-wali-rahmani39s-state-honor
slr-did-not-shoot-in-salute-at-the-time-of-maulana-wali-rahmani39s-state-honor
बिहार

मौलाना वली रहमानी के राजकीय सम्मान के समय सलामी देने में एसएलआर से नहीं निकली गोली

news

मुंगेर, 05 अप्रैल (हि.स.) । आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड के महासचिव, इमारत -ए-शरिया के अमीर-ए- शरियत और बिहार विधान परिषद के पूर्व उपाघ्याक्ष हजरत मौलाना वली रहमानी को 04 अप्रैल को राजकीय सम्मान देने के समय एसएलआर से सालामी देने के समय गोली नहीं चलनेे के मामले में मुंगेर के आरक्षी उप-महानिरीक्षक मोहम्मद शफीउल हक ने कड़ी काररवई का संकेत दिया है । उन्होंने सोमवार को यहां बताया कि लाखों की जनता के सामने राजकीय सम्मान के समय सलामी के लिए एसएलआर से गोली नहीं निकलने से पुलिस की बेइज्जती को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा । विभाग ने इस घटना के लिए जिम्मेवारी तय कर ली है और निकम्मे पुलिसकर्मियों को सलामी के लिए चुनने के लिए सर्जेन्ट मेजर और आर्मरर के विरूद्ध जल्द विभागीय काररवाई की जायेगी । सर्जेन्ट मेजर और आर्मरर से 20 अप्रैल तक जवाब मांगा गया है । उन्होंने कहा कि मौलाना वली रहमानी को सुपुर्द-ए-खाक किए जाने के पहले राजीकय सम्मान के तहत एसएलआर से सलामी देनी थी । दस सिपाहियों में छह सिपाही गोली फायर करने में फेल रहे । कुछ एसएलआर में मैगजीन तक नहीं लोडकर पा रहे थे । कुछ सिपाही बोल्ट तक नहीं चढ़ा पा रहे थे । लाखों की जनता की नजरों में पुलिस की काफी बेइज्जती हो गई । उन्होंने सर्जेन्ट मेजर और आर्मरर से कारण-पृच्छा में यह भी पूछा है कि ऐसे एसएलआर का क्यों चयन हुआ जिससे फायर नहीं हो सका । हिन्दुस्थान समाचार /श्रीकृष्ण/विभाकर