मेयर सीता साहू की कुर्सी खतरे में
मेयर सीता साहू की कुर्सी खतरे में
बिहार

मेयर सीता साहू की कुर्सी खतरे में

news

अविश्वास प्रस्ताव पर विचार के लिए विशेष बैठक बुलाने की मांग पटना, 17 जुलाई (हि.स.) । पटना की मेयर सीता साहू की मेयर की कुर्सी पर एक बार फिर से खतरा मंडराने लगा है। साल भर के अंदर ही उनके खिलाफ फिर से अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। मुख्य पार्षद सह महापौर पटना नगर निगम के नाम से लिखी गई चिट्ठी में मेयर सीता साहू पर कई आरोप लगाए गए हैं और साथ ही यह भी कहा गया है कि सीता साहू मेयर पद पर काम करने में सक्षम नहीं हैं। ऐसे में उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर विचार हेतु निगम परिषद की विशेष बैठक बुलाई जाए।जिन चीजों का इस पत्र में जिक्र किया गया है, उसमें कहा गया है कि आउटसोर्स के माध्यम से निगम में भारी लूट मची हुई है। वही, पटना नगर निगम में भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी सातवें आसमान पर है। पत्र में दो प्रतिशत कमीशन की खुलेआम मांग किये जाने का भी जिक्र है। पत्र के तीसरे पैराग्राफ में लिखा गया है कि सीता साहू मेयर पद पर पर रहते हुए कार्य संचालन में अक्षम हैं। हालांकि इस पत्र के बाद निगम परिषद् की विशेष बैठक कब बुलाई जाएगी और अगर अविश्वास प्रस्ताव स्वीकृत होता है, तो उस पर वोटिंग कब होगी, यह अभी स्पष्ट नहीं है। गौरतलब है कि पिछले साल 2019 में भी पटना मेयर सीता साहू के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए बुलाई गई थी जिसमें 44 वार्ड पार्षद शामिल हुए थे। इनमें 12 वार्ड पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में दो और विरोध में कुल 10 पार्षदों ने वोट भी डाले थे। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन /विभाकर-hindusthansamachar.in