महाराष्ट्र सरकार पर उठ रहे सवालों से असहज हुए शक्ति सिंह गोहिल
महाराष्ट्र सरकार पर उठ रहे सवालों से असहज हुए शक्ति सिंह गोहिल
बिहार

महाराष्ट्र सरकार पर उठ रहे सवालों से असहज हुए शक्ति सिंह गोहिल

news

महाराष्ट्र सरकार पर उठ रहे सवालों से असहज हुए शक्ति सिंह गोहिल कहा, बयानबाजी से ज्यादा केस की जांच पर हो फोकस बिहार सरकार सर्वोच्च न्यायालय में रखे अपनी बात पटना, 02 अगस्त (हि.स.) । बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत को लेकर चल रही सियासी बयानबाजी के बीच कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने एक बड़ा बयान दिया है। गोहिल ने कहा है कि सुशांत के नाम पर सियासी बयानबाजी नहीं होनी चाहिए। सुशांत के परिवार वालों को न्याय मिले। गोहिल ने कहा है कि बयानबाजी से ज्यादा जांच पर फोकस करने की जरूरत है। दरअसल, शक्ति सिंह गोहिल महाराष्ट्र सरकार के ऊपर उठ रहे सवालों से तिलमिलाए हुए हैं। महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी के गठबंधन वाली सरकार है और लगातार बिहार सरकार के साथ-साथ जनता दल (यू) और भाजपा के नेता महाराष्ट्र सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं। ऐसे में गोहिल ने कहा है कि अगर बिहार सरकार को लगता है कि उनके जांच करने से सुशांत के परिवार वालों को न्याय मिल सकता है तो वह सुप्रीमकोर्ट में इस बात को रखें। गोहिल ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट में याचिका पहुंच चुकी है और ऐसे में बिहार सरकार को कहना चाहिए कि वह इस मामले की जांच करना चाहती है। गोहिल ने भाजपा और जदयू को इस मामले में नसीहत भी दे डाली है।उन्होंने कहा है कि बयानबाजी करने से कुछ भी नहीं होगा बल्कि सुशांत सिंह राजपूत के मामले में निष्पक्ष जांच हो, इस पर पूरा ध्यान लगाना चाहिए। बिहार में अब सत्ताधारी गठबंधन के नेताओं ने कांग्रेस को घेरना शुरू कर दिया है। महाराष्ट्र सरकार के रवैए को लेकर कांग्रेस बिहार में घिर रही है और इसी बीच गोहिल ने अब यह बयान जारी कर पलटवार किया है। वहीं, बिहार कांग्रेस के नेता और विधान पार्षद प्रेमचंद्र मिश्रा ने भी मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की है। प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा है कि बिहार सरकार को इस पूरे मामले पर बयानबाजी छोड़कर सीबीआई जांच की अनुशंसा करनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन /विभाकर-hindusthansamachar.in