वाल्मीकिनगर में तिरहुत नहर से बालू माफियाओं के द्वारा किया जा रहा है अवैध उत्खनन

वाल्मीकिनगर में तिरहुत नहर से बालू माफियाओं के द्वारा किया जा रहा है अवैध उत्खनन
sand-mafia-is-doing-illegal-excavation-from-tirhut-canal-in-valmikinagar

बगहा, 26अप्रैल(हि.स.)। भारत-नेपाल सीमा स्थित वाल्मीकिनगर में सरकार द्वारा खनन पर रोक लगाने के बावजूद भी खनन माफियाओं का उत्खनन बददस्तूर जारी है। गंडक बराज के जीरो आरडी से निकली मुख्य तिरहुत नहर समेत अन्य कई जगहों पर अवैध खनन कर माफियाओं द्वारा बालू निकासी की जा रही है। भेड़िहारी करमहवा टोला के समीप से होकर गुजरी तिरहुत नहर से माफियाओं के द्वारा खननकर सरकारी और गैर सरकारी कार्यों में महंगे दामों पर आपूर्ति की जा रही है, इसके बावजूद प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है। ग्रामीणों की माने तो अवैध खनन को रोकने के लिए तिरहुत नहर विभाग के कनिय अभियंता और सहायक अभियंता से कई बार गुहार भी लगाई जा चुकी है। फिर भी अवैध खनन जारी है। खनन से नहर के बांध पर खतरा मड़राने लगा है। भविष्य में 19 आरडी की तरह सीपेज की समस्या उतपन्न होने की संभावना से इंकार नही किया जा सकता है। वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के बीचों बीच से गुजरी मुख्य तिरहुत नहर के तल से बड़े पैमाने पर अवैध बालू का खनन किया जा रहा है। जिससे पर्यावरण को खतरा उत्पन्न होने की संभावना है। अधीक्षण अभियंता अंचल डिवीजन बेतिया हरिकेश्वर राम ने बताया कि सूचना मिली है जांच कराई जा रही है। मामले में संलिप्त लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी। हिन्दुस्थान समाचार /अरविंद

अन्य खबरें

No stories found.