review-of-prosecution-works-instructions-given-for-execution
review-of-prosecution-works-instructions-given-for-execution
बिहार

अभियोजन कार्यों की हुई समीक्षा, निष्पादन के दिए गए निर्देश

news

बेगूसराय, 22 फरवरी (हि.स.)। जिला पदाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कारगिल विजय सभा भवन में सोमवार की शाम अभियोजन कार्यों की समीक्षा की गई। मौके पर पुलिस उपाधीक्षक (मुख्यालय) निशीत प्रिया, लोक अभियोजक मो. मंसूर आलम, डीपीआरओ भुवन कुमार, प्रभारी जिला अभियोजन पदाधिकारी सतीश चंद्र पांडेय समेत संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।बैठक के दौरान डीएम ने सभी जिला अभियोजन पदाधिकारी, सहायक अभियोजन पदाधिकारी, लोक अभियोजक एवं अपर लोक अभियोजकों को निर्धारित अवधि के लिए मामलों को चिन्हित करते केस का निष्पादन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उन्होंने केस के निष्पादन में पुलिस पक्ष के साथ समन्वय स्थापित करते हुए सरकारी गवाहों की उपस्थिति सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया। इससे पूर्व जिला जिला अभियोजन पदाधिकारी एवं सहायक अभियोजन पदाधिकारी के स्तर पर न्यायालय में चल रहे विचारण के लिए वादों की समीक्षा के दौरान बताया गया कि जनवरी में 407 मामले दायर किए गए, जबकि 191 मामलों का निष्पादन किया गया। अब तक 27432 मामलों में से वर्तमान में कुल 27241 मामले लंबित हैं, जिसमें से 6834 मामलों में आरोप गठित हुआ है तथा 2275 मामलों में गवाही हुई है तथा 78 मामलों में बहस चल रही है। इसी प्रकार लोक अभियोजक एवं अपर लोक अभियोजकों के स्तर पर न्यायालय में चल रहे विचारण के लिए जनवरी में छह मामले दायर हुए तथा पांच मामलों का निष्पादन किया गया है। वर्तमान में 295 मामले लंबित हैं, जिसमें से 23 मामलों में गवाही हुई है तथा 26 मामलों में बहस चल रही है। डीएम ने शस्त्र अधिनियम के तहत जिला अभियोजन पदाधिकारी एवं सहायक अभियोजन पदाधिकारी पर लंबित मामलों की भी समीक्षा कर लंबित मामलों के निष्पादन में गति लाने का निर्देश दिया गया। इसके साथ ही डीएम ने स्पीडी ट्रायल मामलों को भी अविलंब निष्पादित करने तथा पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, जख्म प्रतिवेदन, अपहृता का मेडिकल जांच प्रतिवेदन आदि से संबंधित मामलों की भी समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र