remembered-father-of-the-nation-mahatma-gandhi-administered-oath-to-build-leprosy-free-india
remembered-father-of-the-nation-mahatma-gandhi-administered-oath-to-build-leprosy-free-india
बिहार

याद किए गए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, दिलाई गई कुष्ठ मुक्त भारत निर्माण की शपथ

news

बेगूसराय, 30 जनवरी (हि.स.)। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को उनके शहादत दिवस पर शनिवार को श्रद्धापूर्वक याद किया गया। बेगूसराय के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सोशल मीडिया के माध्यम से महात्मा गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर नमन किया। इस मौके पर जिला भर में विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिला प्रशासन द्वारा स्वर्ण जयंती पुस्तकालय स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने उन्हें नमन किया। मौके पर बेगूसराय विधायक कुंदन कुमार ने कहा कि महापुरुषों की जयंती एवं पुण्यतिथि पर इसलिए याद करते हैं, ताकि आने वाली पीढ़ी उन्हें याद रख सके। आज हम देशवासी पूज्य गांधी जी को याद कर रहे हैं। हम सबको उनके कृतित्व, व्यक्तित्व और आदर्शों को अपने जीवन में अपनाना चाहिए। अपने अगली पीढ़ी को रूबरू कराना चाहिए, युवा पीढ़ी उनके बताए रास्ते को आत्मसात कर, उस पर अमल करें तथा उनको अपना आदर्श माने और प्रेरणा लें। पुष्पांजलि के बाद मुख्य कार्यक्रम जिला मुख्यालय के कारगिल विजय भवन में आयोजित किया गया। जहां एडीएम मो. बलागउद्दीन, सदर एसडीओ संजीव कुमार चौधरी, डीपीआरओ भुवन कुमार समेत जिला स्तरीय अधिकारियों ने दो मिनट का मौन धारण कर बापू को नमन किया। इस मौके पर एडीएम ने सभी लोगों ने कुष्ठ उन्मूलन की शपथ दिलाई। लोगों ने शपथ लिया कि कुष्ठ रोग के प्रारंभिक लक्षण वाले व्यक्ति को संदेहास्पद मानते हुए नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर जाने के लिए प्रेरित करूंगा, ताकि उनका पूरा-पूरा इलाज हो सके। परिवार, पड़ोस और समाज में कोई व्यक्ति कुष्ठ रोग से प्रभावित होता है और उनका इलाज एमडीटी से हो चुका है तो उसके साथ बैठने, खाने, घूमने, फिरने में किसी प्रकार का भेदभाव नहीं करूंगा। विकलांगता युक्त कुुष्ठ प्रभावित व्यक्ति से भेदभाव से नहीं रखूंगा तथा उन्हें निःशुल्क चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराने में भरपूर मदद करूंगा। सरकार द्वारा उनको मिलने वाले विकलांगता प्रमाण पत्र तथा पेंशन राशि दिलाने में मदद करूंगा। इसके साथ ही पीड़ित व्यक्ति के साथ सामाजिक भेदभाव के रोकथाम के लिए सदा तत्पर रहूंगा, ताकि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के कुष्ठ मुक्त भारत का सपना पूरा हो सके। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/चंदा-hindusthansamachar.in