रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन तीन गुना अधिक बढ़ाया गया है: अश्विनी चौबे

रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन तीन गुना अधिक बढ़ाया गया है: अश्विनी चौबे
remedesivir-injection-production-increased-three-fold-ashwini-choubey

-बिहार का कोटा 30 मई तक दो लाख इंजेक्शन का किया गया पटना 17 मई (हि.स.)।केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि कोरोना के विरुद्ध जंग में हर पहलुओं पर पैनी नजर रखी जा रही है।रेमडेसिविर इंजेकन का उत्पादन तीन गुना अधिक बढ़ाया गया है। बिहार का कोटा 23 मई तक दो लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन कर दिया गया है। इसमें आगे भी बढ़ोतरी की जाएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री चौबे सोमवार को कोविड-19 को लेकर गठित मंत्रिमंडल समूह की बैठक में पटना से वर्चुअल माध्यम से सम्मिलित हुए।उन्होंने अधिकारियों से बिहार की स्थिति, ऑक्सीजन, दवाइयां, इंजेक्शन एवं चिकित्सकीय उपकरणों आदि की जानकारी प्राप्त की। बैठक में कोरोना की मौजूदा स्थिति पर चर्चा की गई। चौबे ने कोरोना टीका को लेकर गठित राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह की बैठक में भी शामिल हुए। इसमें टीकाकरण को लेकर उठाए जा रहे कदमों की समीक्षा की गई। केंद्रीय मंत्री चौबे ने कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में केंद्र व राज्य बेहतर समन्वय स्थापित कर जनता की मदद में जुटे हुए हैं। इसका सकारात्मक परिणाम भी दिख रहा है। कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में प्रतिदिन बढ़ोतरी हो रही है। पहले की तुलना में कोविड से संक्रमित मरीजों की संख्या भी कम होने लगी है। प्रतिदिन ऑक्सीजन की आपूर्ति, वेंटिलेटर, आईसीयू बेड, दवाइयां एवं इंजेक्शन आदि की समीक्षा की जा रही है। टू डीजी ड्रग आशा एवं उम्मीद की है नई किरण केंद्रीय मंत्री ने कहा कि डीआरडीओ एवं डीआरएल की ओर से तैयार टू डीजी ड्रग आशा और उम्मीद की एक नई किरण है। यह ड्रग कोविड में प्रभावकारी साबित होगा। उन्होंने इस ड्रग के रिसर्च एवं डेवलपमेंट में जुड़े सभी वैज्ञानिकों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। हिन्दुस्थान समाचार/चंदा