स्वामी केशवानन्द की श्राद्धकर्म पर सन्तमत सत्संग

स्वामी केशवानन्द की श्राद्धकर्म पर सन्तमत सत्संग
religious-satsang-on-swami-kesavanand39s-shraddhkarma

नवादा, 08 मई (हि.स.)। प्रकृति की गोद में अवस्थित पूज्यपाद नित्यानंद जी महाराज की साधना स्थली महर्षि संतसेवी ध्यानयोग आश्रम नवादा जिले के धनावां में ब्रम्हलीन स्वामी केशवानंद बाबा की आत्मा की शांति के लिए उनके श्रद्धा के अवसर पर शनिवार को स्वामी शांतानंद जी महाराज के सान्निध्य में सादे समारोह में सत्संग का आयोजन किया गया। प्रातःकाल स्वामी शांतानंद जी महाराज ने संत स्तुति विनती, वेदमंत्र पाठ के साथ सत्संग की शुरुआत की। सत्संग प्रवचन के बाद उनकी आत्मा की शांति हेतु कुछ काल तक ध्यान साधना किया गया। और परमाराध्य गुरुदेव संत सद्गुरु महर्षि मेँहीँ परमहंस जी महाराज के तस्वीर पर पुष्पांजलि कर श्रद्धांजलि दिया गया। श्र श्रद्धांजलिते हुए स्वामी शांतानंद जी महाराज ने कहा कि स्वामी केशवानंद जी महाराज संतमत के समर्पित महात्मा थे। वे अपने जीवन भर सत्संग प्रचार करते रहे। अपने बाल बच्चों के साथ रहते हुए ध्यान साधना कर मानव जीवन को सार्थक किया। वे घर परिवार में रह कर संयमित जीवन जीते हुए समाज को सत्य अहिंसा सदाचार प्रेम त्याग ईश्वर भजन का उपदेश दिया। वे गृहस्थ भक्तों के लिए प्रेरणा श्रोत्र थे। को कोरोना प्रोटोकॉल तथा लोकडाउन के कारण श्रद्धांजलि समारोह में सिर्फ आश्रमवासी सिपाही बाबा, स्वामी महेंदर बाबा, नकुल ब्रह्मचारी, पूर्व मेजर आर पी पंडित मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/डॉ सुमन