Political rhetoric intensified in Bihar over Rupesh Singh murder case
Political rhetoric intensified in Bihar over Rupesh Singh murder case
बिहार

रूपेश सिंह हत्याकांड को लेकर बिहार में राजनीतिक बयानबाजी तेज

news

-हत्याकांड की जांच कोर्ट की निगरानी में हो: राजद -भाजपा सांसद विवेक ठाकुर ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठाया सवाल पटना, 13 जनवरी (हि.स.)। बिहार में अपराधिक घटना थमने का नाम नहीं ले रही है। पटना के सबसे सुरक्षित माने जाने वाले शास्त्री नगर थाना क्षेत्र में इंडिगो एयरलाइंस के मैनेजर रूपेश सिंह की मंगलवार की शाम हुई हत्या को लेकर राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के राज्यसभा सदस्य और प्रवक्ता मनोज झा ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि इस घटना की कोर्ट की निगरानी में जांच करनी चाहिए। मनोज झा ने कहा कि बिहार में जंगलराज नहीं महा महा जंगलराज है । भाजपा के राज्यसभा सदस्य विवेक ठाकुर ने कहा कि राजधानी पटना समेत पिछले कुछ दिनो में राज्य के अलग-अलग जिलों में घटी घटना चिंता का विषय। सरकार को इस मामले में चिंता करने की ज़रूरत। पुलिस सिस्टम और पटना पुलिस पर विवेक ठाकुर ने सवाल उठाते हुए कहा कि शहर में ऐसी घटना होती है लेकिन कोई सीसीटीवी फ़ुटेज नहीं आ रहा है, ऐसा क्यों ? जन अधिकार पार्टी (जाप) के संरक्षक व पूर्व सांसद पप्पू यादव ने हत्याकांड को लेकर कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब पुलिस को खुली छूट दें और पुलिस अपराधियों का एनकाउंटर करे। भाजपा सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने कहा कि बिहार में अपराधियों को सरेआम गोली मारने की जरूरत है। इसके लिए कानून में बदलाव की जरूरत हो तो बदलाव किया जाए। हम के विधायक अनिल कुमार आज रूपेश सिंह के आवास पहुंचे। यहं उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि यह बहुत दुखद घटना है।पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है अपराधियों को पकड़ना। विरोधी कुछ भी आरोप लगाए, नीतीश कुमार ईमानदारी से लॉ एंड ऑर्डर सम्भालने का प्रयास कर रहे है। भाजपा के नेता और बिहार सरकार में मंत्री अमरेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि लॉ एंड ऑर्डर किसी भी सरकार की प्राथमिकता होती है। हमारी सरकार की प्राथमिकताओं में भी है। लॉ एंड ऑर्डर अपराध की घटनाओं को रोकने के लिए नीतीश सरकार पूरी तरह से तत्पर है। उल्लेखनीय है कि बिहार में बीते कुछ समय से कानून-व्यवस्था को लेकर विपक्ष लगातार सत्ता पक्ष पर हमलावर है। सत्ताधारी भाजपा के नेता भी कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाते रहे हैं।अभी गृह मंत्रालय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ही पास है। खुद मुख्यमंत्री भी पुलिस अधिकारियों के साथ बैठकें कर कानून-व्यवस्था की स्थिति की लगातार समीक्षा कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द-hindusthansamachar.in