Police lathi on farmers' Raj Bhavan march
Police lathi on farmers' Raj Bhavan march
बिहार

किसानों के राजभवन मार्च पर बरसी पुलिस की लाठियां

news

किसान संगठनों के राजभवन मार्च से घंटों जाम रही पटना की ट्रैफिक लाठीचार्ज में कई कार्यकर्त्ता घायल, महिलाओं को भी आईं चोटें पटना, 29 दिसम्बर (हि.स.) । केंद्र सरकार द्वारा संसद में पारित नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन अब बिहार भी पहुंच चुका है। विपक्षी दलों ने भी कानूनों का पुरजोर विरोध करना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में मंगलवार को जब वामदलों के कार्यकर्ता राजभवन को घेरने सड़क पर उतरे तो प्रशासन ने उन्हें रोकने के लिए जमकर लाठियां भांजी, जिसमें कई कार्यकर्त्ता घायल हो गए। बता दें कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले प्रदेश के अलग-अलग जिलों से आए किसान मंगलवार को 'राजभवन मार्च' निकाल रहे थे। प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं की मांग थी कि सरकार नए कृषि कानूनों को तत्काल वापस ले। इसलिए बिहार के विभिन्न जिलों से एकत्रित होकर किसान 'राजभवन मार्च' करने और राज्यपाल फागू चौहान को ज्ञापन सौंपने निकले थे। इस मार्च में अखिल भारतीय किसान महासभा के साथ-साथ एआईकेएससीसी के सभी सदस्य संगठन शामिल थे। इस प्रदर्शन में बटाईदार किसानों का भी बड़ा हिस्सा शामिल था। पूर्णिया, अररिया, सीमांचल के अन्य जिलों, चंपारण, सिवान, गोपालगंज आदि जिलों के किसान आज पटना में इकठ्ठे होकर केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे थे। किसानों का यह मार्च गांधी मैदान से निकलकर राजभवन की ओर से बढ़ने लगा। मार्च अभी डाक बंगला चौराहा पर पहुंचा ही था कि पुलिस ने आंदोलनकारियों को आगे बढ़ने से रोक दिया। किसान आगे राजभवन की ओर जाना चाहते थे, लेकिन पुलिस ने किसी को आगे बढ़ने की इजाजत नहीं दी। डाकबंगला चौराहे पर रोके जाने के बाद किसानों और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की शुरू हो गई। जब भीड़ अनियंत्रित होने लगी तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर उसे नियंत्रित करने की कोशिश की। पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने के बाद मौके पर भगदड़ मच गई। भाग रहे किसानों को भी पुलिस ने दौड़ाकर पीटा। कई किसानों ने गलियों में छिपकर जान अपनी बचाई। कई महिला किसान सड़कों पर गिर गईं, जिससे उन्हें काफी चोट पहुंची। उन्हें पीएमसीएच भी भेजा गया। किसान बार-बार कृषि बिल रद करने की मांग कर रहे थे। डाक बंगला चौराहा पर काफी देर तक हंगामा होने के बाद आसपास के इलाकों में भी जाम लग गया। जाम के कारण गांधी मैदान से लोगों को आगे बढऩा मुश्किल हो गया। जमाल रोड, एक्जीविशन रोड, सहित कई सड़कों पर जाम लगने से राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन-hindusthansamachar.in