Parsi and Hindi theater training given to child artists
Parsi and Hindi theater training given to child artists
बिहार

बाल कलाकारों को पारसी और हिंदी रंगमंच का दिया गया प्रशिक्षण

news

बेगूसराय, 09 जनवरी (हि.स.)। नाट्य कर्म से जुड़े बेगूसराय के बाल कलाकार अब हिंदी ही नहीं, पारसी में भी अपनी कला को नया रूप देंगे। इसके लिए बाल रंगमंच आर्ट एंड कल्चरल सोसाइटी के बीहट स्थित कार्यालय में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय नई दिल्ली से पास आउट श्याम कुमार सहनी ने बाल रंगमंच के कलाकारों के बीच पारसी और हिन्दी रंगमंच पर दो दिनों तक विशेष रूप से चर्चा की। प्रशिक्षण के दौरान बाल कलाकारों को नाटक कैसे शुरू हुआ, नाट्य शास्त्र क्यों लिखना पड़ा, अभिनय कैसे किया जाता है, डायलाॅग डिलेवरी आदि की जानकारी दी गई। इसके साथ ही थिएटर गेम्स, सीन वर्क, डांस, बॉडी मूवमेंट के संबंध में भी बताया गया। प्रशिक्षण दे रहे श्याम कुमार सहनी ने बताया कि कलाकारों के लिए इंप्रोवाइजेशन और पढ़ाई बहुत जरूरी है। इंप्रोवाइजेशन से नई-नई चीजें सीखने और करने का मौका मिलता है। बाल रंगमंच के सचिव रंगकर्मी ऋषिकेश कुमार ने बताया कि अभी बाल रंगमंच के 13 कलाकार ' राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय नई दिल्ली की संस्कार रंग टोली' द्वारा संचालित ऑनलाइन कार्यशाला में हिस्सा ले चुके हैं तथा अभी तीन कलाकार प्रशिक्षण ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि बच्चों को नाटक के माध्यम से शिक्षित किया जा रहा है, जल्द ही श्याम कुमार सहनी के निर्देशन में एक नाटक तैयार किया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान बाल रंगमंच के कलाकार विजेन्द्र, विशाल, पूर्णिमा, आंचल, साक्षी, कुणाल, सुजीत, रोहित, ऋषि, शिवराज, नीतीश, आकाश एवं राजेश समेत कई कलाकार मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/हिमांशु शेखर-hindusthansamachar.in