सरसो तेल ने दिलाया 110 लोगों को कोविड वैक्सीन

सरसो तेल ने दिलाया 110 लोगों को कोविड वैक्सीन
mustard-oil-provided-kovid-vaccine-to-110-people

सहरसा,20 जून(हि.स.)। जो काम सरकारी तंत्र नहीं कर पाए। जिलाधिकारी और एसपी की जागरूकता भी नहीं कर पाया। उस काम को एक लीटर सरसो तेल ने कर दिखाया। रविवार को शहरी क्षेत्र के सहरसा बस्ती स्थित जगदंबा पेट्रोल पंप के निकट कोरोना वैक्सीन का कैंप स्वास्थ्य महकमा द्वारा लगाया गया था। उक्त कैंप में लोगों की भीड़ नहीं जुट रही थी।लोग कोरोना वैक्सीन लेने से कतरा रहे थे। ऐसे में सहरसा बस्ती के दो वार्ड आयुक्त आगे आए। उन्होंने घर-घर लोगों को कोरोना वैक्सीन के लिए जागरूकता फैलाई। साथ ही कोरोना वैक्सीन लेने वाले व्यक्ति को एक लीटर सरसो तेल तोहफा में देने का ऑफर दिया। परिणाम अच्छा निकला। देर शाम तक कुल 110 लोगों ने कोरोना का टीका लिया। साथ ही दोनों ही वार्ड आयुक्त से एक-एक लीटर सरसो तेल तोहफा में लेकर वापस घर गए। मतलब साफ है। महंगाई के इस दौर में जहां सरसो तेल की कीमत दो सौ रुपये लीटर के आसपास पहुंच गई है। उसे लेने के लिए लोभ में लोग कोरोना वैक्सीन लेने को भी तैयार हो रहे हैं। हालांकि अभी भी उक्त बस्ती में हजारों लोग कोरोना वैक्सीन लेने से खुद को दूर रख रहे हैं। यह दूरी कोरोना वैक्सीन के विरुद्ध उड़ाए गए कई तरह के अफवाहों से हो रहा है। जिसे दूर करने के लिए बीते दिनों एसपी लिपि सिंह स्वयं सहरसा बस्ती के कई इलाकों में दौरा की थी। लोगों को जागरूक किया था। लोगों को उन्होंने वैक्सीन लेने के लिए उत्साहित किया था। साथ ही लोगों को जानकारी दी थी कि उन्होंने भी वैक्सीन ले ली है। वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। यह पूरी तरह सुरक्षित है। उनके द्वारा फैलाए गए जागरूकता से कुछ लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज भी ली थी। लेकिन वहां भी संख्या नगण्य थी।जिसके बाद सरकार द्वारा चलाए गए जागरूकता रथ भी कई दफे उक्त मोहल्ले पहुंची थी। लेकिन लोगों को कोरोना वैक्सीन लेने के लिए कोई उत्साह नहीं जग रहा था। जिसके बाद बीते सप्ताह भी वार्ड आयुक्त मो. हारून और मो. ओवैस करनी उर्फ चुन्ना ने हर वैक्सीन लेने वाले को एक-एक लीटर करुआ तेल तोहफा देने की घोषणा की थी। जिसका परिणाम सुखद रहा था। रविवार को भी वही प्रक्रिया पुनः दोहराई गई और कुल 110 लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली है। मौके पर मौजूद दोनों वार्ड आयुक्त ने बताया कि उन लोगों का लक्ष्य सहरसा बस्ती के हर एक व्यक्ति को कोरोना वैक्सीन लगवाना है। वे लोग प्रतिदिन लोगों को कोरोना वैक्सीन के लिए जागरूक कर रहे हैं। साथ ही उन्हें यह भी समझाने का प्रयास कर रहे हैं कि कोरोना वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। इससे शरीर की इम्युनिटी पावर बढ़ती है। लेकिन पूर्व से उड़ाई गई अफवाह के कारण अभी भी लोगों को कोरोना वैक्सीन के प्रति विश्वास नहीं जग पा रहा है। लेकिन उन्होंने उम्मीद जाहिर किया कि लोग कोरोना वैक्सीन लेंगे। बस्ती के लोग खुद को सुरक्षित रखेंगे और समाज के अन्य दूसरे लोगों को भी सुरक्षित रखेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/अजय

अन्य खबरें

No stories found.