कहानी पाठ और गीत के माध्यम से याद किए गए मुंशी प्रेमचंद
कहानी पाठ और गीत के माध्यम से याद किए गए मुंशी प्रेमचंद
बिहार

कहानी पाठ और गीत के माध्यम से याद किए गए मुंशी प्रेमचंद

news

बेगूसराय, 31 जुलाई (हि.स.)। आकाश गंगा रंग चौपाल एसोसिएशन बरौनी के बैनर तले शुक्रवार को मुंशी प्रेमचंद की 140 वी जयंती पर उनकी दो प्रमुख कहानियों का पाठ और गीतों की प्रस्तुति की गई। सचिव गणेश गौरव, उपाध्यक्ष अमर ज्योति उर्फ बच्चु भाई, आनन्द कुमार और दिनेश दिवाना के द्वारा डॉ. आनंद नारायण शर्मा की रचना मैं कवि हूं गांव के अनगिनत किसानों के साथ साथ हम मेहनतकश जग वालों से जब अपना हिस्सा मांगेंगे जैसे गीतों की प्रस्तुति की गई। इस अवसर पर मध्य प्रदेश नाट्य विद्यालय के पास आउट रवि वर्मा द्वारा मुंशी प्रेमचंद की कहानी चोरी और एसोसिएशन के संयोजक डॉ कुंदन कुमार के द्वारा मंदिर शीर्षक कहानी का पाठ किया गया। कहानी पाठ में प्रस्तुतकर्ता ने कहानियों को बखूबी नाटकीय अंदाज देते कहानी पाठ किया। वहीं, बालरंग मंच के निर्देशक ऋषिकेश कुमार ने गोदान के गीत की प्रस्तुति कर जयंती कार्यक्रम को बेहतरीन बना दिया। अध्यक्षता करते हुए एसोसिएशन के अध्यक्ष शंभु साह ने कहा कि मुंशी प्रेमचंद ने गांव के आम जनमानस को अपना नायक बनाया और उसे अपने साहित्य में स्थान दिया। आज जरूरत इस बात की है हम उनके पात्रों और नायकों से संवाद स्थापित करते रहें। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/चंदा-hindusthansamachar.in