दो-दो प्रदीप के निधन से गमगीन हुआ मिथिला

दो-दो प्रदीप के निधन से गमगीन हुआ मिथिला
mithila-is-confused-due-to-pradeep39s-death

दरभंगा, 22 मई (हि.स.)। 'दक्षिण के गांधी' नाम से मशहूर नवानी निवासी वयोवृद्ध शोभा कांत दास के इकलौते पुत्र प्रदीप कुमार दास एवं रैयाम चीनी मिल के जेनरल मैनेजर प्रदीप कुमार चौधरी के निधन पर विद्यापति सेवा संस्थान ने शनिवार को शोक जताया। अपने शोक संदेश में इन दोनों के निधन को अपूर्णीय क्षति बताते हुए संस्थान के महासचिव डॉ बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने कहा कि प्रदीप कुमार चौधरी के निधन से एक गांधीवादी पिता ने जहां अपना आज्ञाकारी बेटा खो दिया। वहीं, दक्षिण के राज्यों में मिथिला, मैथिली एवं मैथिलों के हित की चिंता करने वाला शख्सियत असमय हमसे जुदा हो गया। इसी तरह प्रदीप कुमार चौधरी के निधन से रैयाम चीनी मिल के चालू होने की आस का अंतिम दिया भी बुझ गया। उनके असामयिक निधन पर मैथिली अकादमी के पूर्व अध्यक्ष पं कमला कांत झा, वरिष्ठ साहित्यकार मणिकांत झा, संस्थान के सचिव प्रो जीवकांत मिश्र, मीडिया संयोजक प्रवीण कुमार झा, प्रो विजयकांत झा, विनोद कुमार झा, हीरा कुमार झा, डॉ महेंद्र नारायण राम, प्रो चंद्रशेखर झा बूढाभाई, डॉ गणेश कांत झा, डाॅ रामसुभग चौधरी, आशीष चौधरी, चंदन सिंह, चौधरी फूल कुमार राय, नवल किशोर झा, डाॅ सुषमा झा, दुर्गानंद झा आदि ने भी अपनी शोक संवेदना जताई। हिन्दुस्थान समाचार/मनोज